कलाई की ये रेखा बताती है व्यक्ति की आयु, ‘मणिबंध रेखा’ से जानें कितने साल जिएंगे आप

हथेली की रेखाओं की तरह व्यक्ति की कलाई की रेखाएं भी व्यक्ति के भविष्य के बारे में बताती हैं. आज हम कलाई पर दिखने वाली मणिबंध रेखाएं व्यक्ति की आयु के बारे में बताती हैं. आइए जानें.

This line of the wrist tells the age of the person, know how many years you will live from the 'cicle line'
This line of the wrist tells the age of the person, know how many years you will live from the 'cicle line'
इस खबर को शेयर करें

Manibadha line On Wrist: हस्तरेखा शास्त्र में व्यक्ति की हाथ की रेखाओं के बारे में विस्तार से बताया गया है. हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार व्यक्ति के हाथों की रेखाओं से उसके भविष्य, वर्तमान और स्वभाव को आसानी से जाना-समझा जा सकता है. हथेलियों की तरह की व्यक्ति की कलाई की रेखाएं भी उसके भविष्य की गणना करती हैं. कलाई पर दिखने वाली रेखाओं को मणिबंध रेखाएं कहा जाता है. इंग्लिश में इन्हें ब्रेसलेट लाइल कहते हैं. ये रेखाएं हाथ और कलाई के बीच में होती हैं. इन ब्रेसलेट लाइन को देखकर व्यक्ति की उम्र के बारे में जाना जा सकता है. हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार जानें ब्रेसलेट रेखाओं के बारे में.

ब्रेसलेट लाइन का उम्र से संबंध
ऐसा माना जाता है कि कलाई पर दिखने वाली मणिबंध रेखाएं जितनी ज्यादा होंगी, व्यक्ति का जीवन उतना ज्यादा अधिक होगा. वहीं, अगर किसी व्यक्ति की कलाई में कम लाइनें हैं,तो उस व्यक्ति की उम्र कम होती है.

ऐसा माना जाता है कि अगर मणिबंध रेखाओं पर एक लाइन दिख रही है, तो आपकी उम्र 23- 28 के बीच में संभला चाहिए. इस दौरान आपको महामृत्युजंय पाठ करना चाहिए. साथ ही किसी भी बीमारी को इस दौरान अनदेखा न करें. वहीं, दो लाइन होने पर 46 से 56 के बीच संभलकर चलने की जरूरत है. और अपना ज्यादा से ज्यादा समय पूजा-पाठ में बिताना चाहिए. वहीं, हाथ में तीन ब्रेसलेट लंबी उम्र की ओर इशारा करती हैं. वहीं, हाथ में 4 मणिबंध लाइन व्यक्ति की उम्र 84 से ज्यादा होने की ओर इशारा करती हैं.

जानें महिला और पुरुषों की लाइन में अंतर
हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार व्यक्ति के हाथ की पहली ब्रेसलेट लाइन का अर्थ महिला और पुरुष के लिए अलग-अलग होता है. महिलाओं की पहली लाइन टूटी या फिर कर्व होती है, तो ऐसे में महिलाओं को गर्भाधारण करने में परेशानी का सामना करना पड़ता है. वहीं, पुरुषों में इस तरह की लाइन उनकी यूरिनरी ट्रैक्ट या फिर प्रॉस्टेट से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. )