चलती बस में सवारियों को बांधा, फिर महिला के फाडे कपडे और 7 लोग करते रहे रेप

बांग्लादेश के ढाका डिविजन की एक बड़ी सिटी तांगैल में चटोग्राम जाने वाली बस में आधी रात 25 वर्षीय पैसेंजर से रेप और फिर लूटपाथ का चौंकाने वाला मामला चर्चा का विषय बना हुआ है।

Tied the passengers in the moving bus, then after tearing the clothes, 7 people kept raping the woman in turn
Tied the passengers in the moving bus, then after tearing the clothes, 7 people kept raping the woman in turn
इस खबर को शेयर करें

ढाका. बांग्लादेश के ढाका डिविजन की एक बड़ी सिटी तांगैल में चटोग्राम जाने वाली बस में आधी रात 25 वर्षीय पैसेंजर से रेप और फिर लूटपाथ का चौंकाने वाला मामला चर्चा का विषय बना हुआ है। बदमाशों के सरगना को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है। गुरुवार(4 अगस्त) को उसे कोर्ट ने 5 दिन की रिमांड पर भेजा है। घटना 2-3 अगस्त के दरमियान ढाका-तांगैल राजमार्ग पर तंगैल के मधुपुर उपजिला के रक्तीपारा इलाके में हुई थी। तांगैल एसपी सरकार एमडी कैसर के अनुसार, 24 यात्रियों के साथ ‘ईगल परिबहन’ की बस मंगलवार देर रात कुश्तिया से चट्टोग्राम जा रही थी, जब यह अपराध हुआ। सिराजगंज जिले के एक होटल में चाय-नाश्ता के लिए बस रुकी थी। यहां से जब बस निकली, तो बस में 7 लुटेरे सवार हो चुके थे। 5-10 मिनट बाद 4 और बस में चढ़ गए।

पांच दिन की रिमांड पर भेजा गया आरोपी: तंगेल कोर्ट ने गुरुवार को इस मामले के आरोपी पांच दिन के रिमांड पर भेजा है। जिले के कालीहाटी उपजिला का रहने वाला 32 वर्षीय आरोपी राजा मिया कभी ढाका-तांगैल मार्ग पर झटिका परिबहन(बांग्लादेश में परिवहन को परिबहन कहते हैं) का ड्राइवर था। सीनियर ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट बादल कुमार चंद्रा ने पुलिस की डिटेक्टिव ब्रांच की सात दिन की रिमांड की मांग पर यह आदेश दिया। इस बीच रेप पीड़िता ने कोर्ट में धारा 22 के तहत बयान दिया। कोर्ट इंस्पेक्टर तनवीर अहमद ने मामले की पुष्टि की है।

आरोपी रखता था तीन मोबाइल: इससे पहले डिटेक्टिव ब्रांच (डीबी) ने जिले के देवला इलाके से राजा मिया को गिरफ्तार किया था। इस दौरान उसके पास से तीन मोबाइल फोन बरामद किए गए थे। एसपी सरकार मोहम्मद कैसर ने कहा कि राजा ने एक इकबालिया बयान दिया कि उसने महिला से बलात्कार नहीं किया। लेकिन रेप पीड़िता ने तंगेल जनरल अस्पताल में अपने मेडिकल जांच कराई थी। अस्पताल की गाइनेकॉलाजिस्ट डॉ. रेहेना परवीन ने कहा कि पीड़िता के शरीर पर चोट के निशान थे।

यह है पूरी हादसे की डिटेल्स: मंगलवार(2 अगस्त) की देर रात राजा अपने साथियों के साथ चटगांव जाने वाली ईगल परिबहन की बस में चढ़ गया और कब्जा कर लिया। उन्होंने बस के यात्रियों से पैसे, मोबाइल फोन और अन्य कीमती सामान छीन लिए। उन्होंने बस की एक महिला यात्री के साथ भी बलात्कार किया और उसे सड़क किनारे खाई में फेंक दिया।

बुधवार तड़के करीब 3 बजे आरोपियों ने मधुपुर में रोक्तिपारा जम्मे मस्जिद के सामने बस को रेत के ढेर में पलटा दिया भाग गए।

एक यात्री ने सुनाई आपबीती: बस में सवार हेकमत अली ने मधुपुर थाने में 10 से 12 अज्ञात लोगों पर घटना को लेकर FIR दर्ज कराई थी। अली के अनुसार,लगभग आधी रात को बस में चार लोग यात्री बनकर चढ़े थे। उन्होंने मास्क पहने हुए थे और उनमें से एक के पास एक बैग था। चारों पिछली सीटों पर बैठे थे और लगातार अपने फोन पर टाइप कर रहे थे। लगभग 15 मिनट के बाद पांच और यात्री बस में चढ़े। उसके बाद दो और सवार हुए। उन्होंने ड्राइवर से बस को रोकने को कहा। ड्राइवर के मना करने पर उन्होंने उसके साथ मारपीट की और उनमें से एक ड्राइवर की सीट पर बैठ गया।

अली के अनुसार-इससे पहले कि हम कुछ समझ पाते, उनमें से 10 लोग यात्रियों की सीटों के बगल में खड़े हो गए। उनमें से कुछ ने पुरुषों को बांधने के लिए बस के पर्दों के टुकड़े किए। महिलाओं में से एक बंधी हुई थी, जबकि अन्य खुली थीं। उन्होंने सभी खिड़कियां बंद कर दीं और रोशनी कम कर दी, और यात्रियों से पैसे, मोबाइल फोन और आभूषण छीन लिए।