मुज़फ्फरनगर में बाइक सवारों को ट्रक ने मारी टक्कर, दो युवक कुचले, एक की मौत, ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

इस खबर को शेयर करें

मुज़फ्फरनगर। हाईवे पर डस्ट से भरे ओवरलोड ट्रक ने बाइक सवार दो युवकों को टक्कर मार दी, जिससे एक युवक की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि दूसरा गंभीर रूप से घायल हो गया। हादसा ट्रक चालक की लापरवाही से होना बताया जा रहा है, जबकि पुलिस का मीडिया सैल हादसा बाईक सवार युवकों द्वारा ट्रक को ओवरटेक करने के चलते होना बताया जा रहा है। हादसे के बाद अनियंत्रित ओवरलोड ट्रक एक युवक को मौत की नींद सुलाकर सड़क किनारे पलट गया। हादसे का आरोपी चालक ट्रक छोड़कर फरार हो गया।

युवक की मौत से गुस्साए ग्रामीणों ने सड़क पर अपनी ट्रैक्टर-ट्रॉली आड़ी तिरछी खड़ी करके हाईवे पर जाम लगा दिया। पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों से उचित मुआवजा दिलाने का आश्वासन मिलने के बाद गुस्साए ग्रामीण दो घंटे बाद हाईवे से हटे। जाम के दौरान सड़क के दोनो और वाहनों की कतारें लगने के साथ ही यात्री हलकान रहे।

थाना क्षेत्र के गांव खेड़ी राजपूतान निवासी सोनू पुत्र रामभूल अपने चचेरे भाई अभिषेक पुत्र राजेश के साथ मेरठ क्षेत्र स्थित किसी फैक्टरी में नौकरी करता था। बताया गया कि शुक्रवार प्रातः सोनू और अभिषेक बाइक द्वारा घर से ड्यूटी पर जा रहे थे। खतौली थाना क्षेत्र में हाईवे स्थित भंगेला कट के पास मुजफ्फरनगर से मेरठ की और जा रहे डस्ट से भरे ओवरलोड ट्रक ने अनियंत्रित होकर अपनी सही साईड चल रहे सोनू और अभिषेक को चपेट में लेकर कुचल दिया।

हादसे में बाईक सवार सोनू और अभिषेक गंभीर घायल हो गए। गंभीर घायल सोनू ने मौके पर ही तड़प कर दम तोड दिया, जबकि गंभीर घायल अभिषेक को हाईवे पर ट्रक बाईक की भिड़ंत की सूचना मिलते ही आनन-फानन मौके पर पहुंची कोतवाली पुलिस ने सरकारी अस्पताल पहुंचाया। सरकारी अस्पताल के चिकित्सकों ने घायल अभिषेक को प्राथमिक उपचार देकर मेरठ रैफर कर दिया। हादसे में सोनू की मौत और अभिषेक के गंभीर घायल होने की सूचना इनके गांव पहुंचते ही परिजनों में कोहराम मच गया। आनन फानन परिजन ग्रामीणों के साथ मौके पर पहुंच गए। उत्तेजित ग्रामीणों ने सोनू के शव को सड़क पर रखने के अलावा ट्रैक्टर ट्रॉली आड़ी तिरछी खड़ी करके हाईवे पर जाम लगा दिया। मौके पर मौजूद एसडीएम अपूर्वा यादव, सीओ रविशंकर मिश्रा और कोतवाल मुकेश कुमार के समझाने बुझाने का कोई असर ग्रामीणों पर नहीं पड़ा।

ग्रामीण मृतक और घायल युवक के परिजनों को तत्काल मुआवजा दिए जाने की मांग पूरी करने पर अड़े रहे। बताया गया मौके पर मौजूद पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा मृतक और घायल युवक के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से दस दस लाख का मुआवजा 15 दिनों के अंदर दिलाए जाने का आश्वासन देने पर ग्रामीण हाईवे से हटे, जिसके बाद पुलिस ने पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजकर हाईवे का यातायात सुचारू कराया।