दशहरा रैली में उद्धव ठाकरे ने पीएम मोदी, बीजेपी और संघ पर उतारा गुस्सा

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री व शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को अपनी पार्टी की परंपरागत दशहरा रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर जमकर भड़ास निकाली। महाराष्ट्र आगे बढ़ रहा है। इससे लोगों के पेट में मरोड़ हो रही है।

Uddhav Thackeray vents anger on PM Modi, BJP and Sangh at Dussehra rally
Uddhav Thackeray vents anger on PM Modi, BJP and Sangh at Dussehra rally
इस खबर को शेयर करें

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री व शिवसेना के अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने शुक्रवार को अपनी पार्टी की परंपरागत दशहरा रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, भाजपा व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर जमकर भड़ास निकाली। महाराष्ट्र आगे बढ़ रहा है। इससे लोगों के पेट में मरोड़ हो रही है। इसी कारण से महाराष्ट्र को बदनाम किया जा रहा है। उद्धव ठाकरे ने यह आरोप भाजपा पर लगाते हुए कहा कि संघीय ढांचे में राज्यों को सार्वभौमता दी गई है, लेकिन केंद्र लगातार हमारे कामकाज में हस्तक्षेप कर रहा है। हम ऐसा चलने नहीं देंगे। शिवसेना की आवाज कोई दबा नहीं सकता। उद्धव ने कहा कि इन दिनों महाराष्ट्र की बदनामी की मुहिम चलाई जा रही है। महाराष्ट्र को अलग नजरिए से देखा जा रहा है। एक मंत्री पर एफआइआर दर्ज कराने के लिए कोल्हापुर जाने से भाजपा नेता किरीट सोमैया को रोका गया, तो यह प्रचार किया जाने लगा कि महाराष्ट्र में लोकतंत्र का गला घोंट दिया गया। पुलिस को भी माफिया बता दिया, लेकिन उत्तर प्रदेश में अखिलेश को रोका गया, राहुल को रोका गया, प्रियंका को नजरबंद किया गया, तो वहां क्या लोकतंत्र के बाग लहलहाने लगे हैं?

मोदी सरकार पर साधा निशाना

उद्धव ने शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान का परोक्ष समर्थन करते हुए कहा कि कोई एक सेलीब्रिटी पकड़ें और उसका ढिंढोरा पीटा जाए, उसकी फोटो निकाली जाए, सिर्फ यही चल रहा है। उन्होंने यह टिप्पणी भी की कि महाराष्ट्र पुलिस इस विषय में नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो से अच्छा काम कर रही है। उन्होंने इस वर्ष अब तक 150 करोड़ के मादक पदार्थ पकड़े हैं, जबकि गुजरात में अडाणी के मुंदड़ा पोर्ट पर पकड़े गए मादक पदार्थों का एनसीबी ने क्या किया है, ये अब तक पता नहीं चला है। उन्होंने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सत्ता का नशा भी मादक पदार्थ से ज्यादा होता है। उन्होंने आर्यन खान का मसला युवाओं के भविष्य से जोड़ते हुए यह सवाल भी कर डाला कि सिर्फ मादक पदार्थ मिलने के कारण आप युवाओं को गुनहगार सिद्ध कर देंगे क्या?

मोहन भागवत पर कसा तंज

उद्धव ने सुबह नागपुर में संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत द्वारा दिए भाषण के अंश दोहराते हुए कहा कि हिदुत्व खतरे में है, पर वह विदेशियों के कारण नहीं, बल्कि नवहिंदुओं के खतरे कारण है। उद्धव ने कहा कि हमारा हिंदुत्व राष्ट्रीयत्व है। देश हमारा धर्म है। इस धर्म के आड़े जो भी कोई आएगा, तो हम सहन नहीं करेंगे। भागवत द्वारा यह कहे जाने पर कि सबके पूर्वज एक थे, उद्धव ने तंज कसते हुए कहा कि यदि सबके पूर्वज एक थे, तो विरोधियों के पूर्वज, आंदोलनकारी किसानों के पूर्वज, लखीमपुर में मारे गए किसानों के पूर्वज क्या किसी दूसरे ग्रह से आए थे? उद्धव ने कहा कि अयोध्या ढांचा विध्वंस के बाद किसी की बोलने की हिम्मत नहीं थी। उस समय केवल हिंदू हृदय सम्राट शिवसेना प्रमुख बाला साहब ठाकरे एकमात्र मर्द थे, जिन्होंने सारी जिम्मेदारी खुद के सिर ले ली थी। उसके बाद मुंबई में दंगे हुए। यदि 1992 में शिवसेना न होती, तो ये हिंदुत्व की बड़ी-बड़ी बातें करने वाले आज दिखते क्या। उद्धव ने कहा कि मैंने पहले भी कहा था कि ‘माय मरे और गाय जगे’ (मां मरे और गाय जिए) ये हमारा हिंदुत्व नहीं है।

ममता बनर्जी की तारीफ

उद्धव ने कहा कि भारत की स्वतंत्रता में लाल, पाल और पाल यानी पंजाब, बंगाल और महाराष्ट्र की बड़ी भूमिका रही है। आज भी वही हो रहा है। ऐसा कहते हुए उद्धव ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की खुलकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि हिंदुत्व के नाम से जिन्होंने सत्ता हासिल की है, वे अब अंग्रेजों की फोड़ो और राज करो की नीति अपना रहे हैं। इसके खिलाफ खड़े होने की हिम्मत हमारे अलावा ममता बनर्जी ने दिखाई है। मैं उनका अभिनंदन करता हूं।