योगी सरकार के टारगेट से भी आगे निकली यूपी पुलिस, जब्त की 650 करोड़ की संपत्ति

योगी 2.0 सरकार में पहले 100 दिन के लिए तय किए गए टारगेट में यूपी पुलिस दूसरे विभागों से आगे निकल गई है। यूपी पुलिस ने मात्र तीन महीने(मार्च से मई 2022) में माफिया की "6,661,785,123 की संपत्तियां या तो जब्त कर ली हैं

UP Police even surpassed Yogi government's target, seized property worth 650 crores
UP Police even surpassed Yogi government's target, seized property worth 650 crores
इस खबर को शेयर करें

लखनऊ: योगी 2.0 सरकार में पहले 100 दिन के लिए तय किए गए टारगेट में यूपी पुलिस दूसरे विभागों से आगे निकल गई है। यूपी पुलिस ने मात्र तीन महीने(मार्च से मई 2022) में माफिया की “6,661,785,123 की संपत्तियां या तो जब्त कर ली हैं या ध्वस्त कर दी हैं। यूपी पुलिस को योगी सरकार के पहले 100 दिन में 500 करोड़ की संपत्तियों पर कार्रवाई का लक्ष्य मिला था। गौर करने की बात है कि अभी 100 दिन भी पूरे नहीं हुए हैं। इससे पहले मार्च 2017 से मार्च 2022 तक कुल “20,956,453,907 की संपत्ति गैंगस्टर ऐक्ट के तहत जब्त की जा चुकी हैं।

सरकार की मंशा के अनुरूप कार्रवाई कर रही पुलिस
एडीजी लॉ एंड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने बताया कि सरकार की मंशा के अनुरूप माफिया व गैंगस्टर के खिलाफ पुलिस सख्त कार्रवाई कर रही है। हालांकि 25 मार्च से तीन मई के बीच 71 दिनों में लखनऊ पुलिस ने माफिया और अपराधियों की एक रुपये की संपत्ति भी जब्त नहीं की। डीजीपी मुख्यालय के मुताबिक कमिश्नरेट पुलिस ने गैंगस्टर ऐक्ट के तहत 13 मामले दर्ज किए हैं लेकिन इनमें से एक की भी संपत्ति जब्त नहीं हुई है।

788 कुख्यात अपराधियों के खिलाफ गैंगस्टर ऐक्ट
एडीजी ने बताया कि मार्च से मई तक कुल 788 कुख्यात अपराधियों के खिलाफ गैंगस्टर ऐक्ट की कार्यवाही की। मार्च से कुख्यात माफिया की नए स्तर से समीक्षा करते हुए शासन द्वारा 50 और पुलिस मुख्यालय द्वारा 12 माफियाओं का विशेष रूप से चिह्नित किया गया है। इन 62 माफिया के अलावा प्रदेशभर में 30 खनन, 228 शराब, 168 पशु, 347 जमीन, 18 शिक्षा समेत 359 माफिया को चिह्नित किया गया। इन पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है और इनकी संपत्तियों से जुड़ा ब्योरा जुटाया जा रहा है। जल्द ही इनके खिलाफ भी कार्रवाई शुरू होगी।