मजे लेने के लिए कुत्तों के गुप्तांगों पर डाल देते थे पेट्रोल, छटपटाहट देख होते थे खुश…

मजे लेने के लिए कुत्तों के गुप्तांगों पर डाल देते थे पेट्रोल, छटपटाहट देख होते थे खुश, FIR दर्ज पशु हितैषी संगठन पीपुल फॉर एनिमल्स की इंदौर इकाई की अध्यक्ष प्रियांशु जैन ने कहा कि बेजुबान जानवरों के साथ क्रूरता करने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए.

Used to put petrol on the genitals of dogs to have fun, used to be happy to see sobbing, FIR registered
Used to put petrol on the genitals of dogs to have fun, used to be happy to see sobbing, FIR registered
इस खबर को शेयर करें

इंदौर: मध्य प्रदेश के इंदौर में बेजुबानों के साथ क्रूरता का सनसनीखेज मामला सामने आया है. यहां बेसहारा कुत्तों के गुप्तांगों पर पेट्रोल छिड़क कर उन्हें भयंकर पीड़ा देने वाले दो लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. संयोगितागंज पुलिस थाने के एक अधिकारी ने बताया कि शहर के जावरा कम्पाउंड स्थित एक डेयरी के दो कर्मचारियों पर आरोप है कि वे बेसहारा कुत्तों के गुप्तांगों पर सीरिंज से पेट्रोल छिड़क कर लंबे वक्त से उन्हें परेशान कर रहे थे.

अधिकारी ने बताया कि क्रूरता से भरी इस हरकत के कारण बेजुबान जानवर दर्द से छटपटाते थे. इस हरकत की जानकारी मिलने पर पशु हितैषी संगठन पीपुल फॉर एनिमल्स की इंदौर इकाई की अध्यक्ष प्रियांशु जैन ने पशु क्रूरता निवारण अधिनियम और अन्य संबद्ध प्रावधानों के तहत संयोगितागंज पुलिस थाने में मंगलवार रात मुकदमा दर्ज कराया. हालांकि अभी आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं हुई है.

आरोपियों को पुलिस ने नहीं किया गिरफ्तार
प्रियांशु जैन ने बताया कि चश्मदीदों ने हमें बताया कि गुप्तांगों पर पेट्रोल छिड़के जाने के कारण दर्द से छटपटाते कुत्तों को देखकर आरोपी खुश हो रहे थे. वे अपने मजे के लिए बेजुबान जानवरों को भयंकर पीड़ा दे रहे थे. गौरतलब है कि जिस डेयरी के कर्मचारियों ने बेसहारा कुत्तों के साथ क्रूरता की, वह शहर में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के मुख्य कार्यालय से सटी है. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आरोपियों को अभी गिरफ्तार नहीं किया गया है.

आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग
पशु हितैषी संगठन पीपुल फॉर एनिमल्स की इंदौर इकाई की अध्यक्ष प्रियांशु जैन ने कहा कि बेजुबान जानवरों के साथ क्रूरता करने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए. उन्होंने कहा सिर्फ अपने मजे के लिए किसी जानवर को दर्द देना या प्रताड़ित करना, अपने आप में बहुत ही शर्मनाक औऱ घृणित कार्य है. ऐसे लोग किसा सभ्य समाज का हिस्सा नहीं हो सकते.