बिहार में फिर गर्भाशय कांड, अवैध नर्सिंग होम में पांच महिलाओं का यूट्रस निकाला

बिहार में फिर गर्भाशय कांड, अवैध नर्सिंग होम में पांच महिलाओं का यूट्रस निकालामहिलाओं के परिजनों ने बताया कि बड़ा ऑपरेशन कर गर्भाशय निकाला गया है। छापेमारी टीम में शामिल पीएचसी प्रभारी डॉ. सूर्यनारायण महतो ने बताया कि पांच मेजर आपॅरेशन की महिलाएं मिलीं हैं।

Uterus scandal again in Bihar, five women's uterus removed in illegal nursing home
Uterus scandal again in Bihar, five women's uterus removed in illegal nursing home
इस खबर को शेयर करें

बगहा: बिहार में फिर गर्भाशय कांड सामने आया है। इस बार बेतिया के बगहा में भोले भाले ग्रामीण लोगों को शिकार बनाया गया है। बगहा के भैरोगंज बाजार स्थित स्टेट बैंक के पास अवैध रूप से चल रहे चौधरी नर्सिंग होम की करतूत है। यहां 40 साल से कम उम्र की 5 महिलाओं का गर्भाशय निकाल दिया गया है। यह खुलासा शनिवार देर शाम नर्सिंग होम में छापेमारी करने पहुंची अफसरों की टीम की जांच के बाद हुआ। प्रशासनिक और मेडिकल टीम नर्सिंग होम की जांच के लिए गई थी।

पीड़ित महिलाएं सरकारी अस्पताल में शिफ्ट
महिलाओं के परिजनों ने बताया कि बड़ा ऑपरेशन कर गर्भाशय निकाला गया है। छापेमारी टीम में शामिल पीएचसी प्रभारी डॉ. सूर्यनारायण महतो ने बताया कि पांच मेजर आपॅरेशन की महिलाएं मिलीं हैं। इनके यूट्रस का ऑपरेशन किया गया है। सभी महिलाओं को बेहतर इलाज के लिए बगहा अनुमंडल अस्पताल में शिफ्ट किया जा रहा है। वहां सरकारी स्तर पर उनके इलाज की व्यवस्था की जा रह है।

आरोपी डॉक्टर फरार
डॉ. सूर्यनारायण महतो ने बताया कि डॉक्टर का पता नहीं चला है। छापेमारी दल के आते ही वह फरार हो गया। सभी महिलाओं का ऑपरेशन 18 से 26 नवंबर के बीच किया गया। नड्डा के जोखु मांझी की पत्नी और जुड़ा के कृष्णनंदन राम की पत्नी का 18 नवंबर की सुबह, इनारबरवा के हनी चौधरी की पत्नी और नड्डा के मोहन बीन की पत्नी का ऑपरेशन 19 नवंबर की सुबह और पिपरा के उपेंद्र यादव की पत्नी का ऑपरेशन 26 नवंबर की शाम को किया गया।

क्या कहते हैं पदाधिकारी
रामनगर की घटना के बाद क्षेत्र में अवैध नर्सिंग होम की जांच की जा रही है। भैरोगंज के चौधरी नर्सिंग होम में गर्भाशय के ऑपरेशन की पांच महिला मरीज मिली हैं। उन्हें अनुमंडल अस्पताल शिफ्ट किया जा रहा है। अस्पताल को सील किया जा रहा है। केस भी दर्ज होगा। – अनुपमा सिंह, एसडीएम, बगहा