मिलिट्री पावर में कौन सा देश है नंबर 1, क्या है भारत की पोजीशन? जानें सबकुछ

इस खबर को शेयर करें

मॉस्को: शक्तिशाली रूस ने यूक्रेन पर हमला (Russia-Ukraine War) कर दिया है और माना जा रहा है कि अगले कुछ घंटों में वो पूरे यूक्रेन पर कब्जा कर लेगा. इस लड़ाई में अमेरिका (America) और पश्चिमी देशों के भी शामिल होने की उम्मीद थी, लेकिन उन्होंने आखिरी वक्त पर हाथ खड़े कर दिए. यदि अमेरिका इस जंग का हिस्सा बनता, तो तस्वीर पूरी तरह से अलग हो सकती थी. ऐसे में यह जानना जरूरी है कि क्या रूस अमेरिका का सामना कर पाता? दोनों में से किसकी सेना ज्यादा शक्तिशाली है?

अमेरिका है नंबर वन
‘डेली स्टार’ की रिपोर्ट के अनुसार, रूस के पास दुनिया की दूसरी सबसे शक्तिशाली सेना (Second Powerful Military) है. जबकि अमेरिका इस मामले में नंबर वन है. रिपोर्ट में Global Firepower द्वारा जारी आंकड़ों के हवाले से बताया गया है कि अमेरिका की सेना दुनिया में सबसे शक्तिशाली है. दरअसल, Global Firepower ने एक लिस्ट तैयार की है, जिसमें देशों को उनकी सैन्य शक्ति के आधार पर रैंक किया गया है.

50 फैक्टर्स के आधार पर मिली रैंकिंग
इस रैंकिंग को तैयार करने के लिए 50 फैक्टर्स को ध्यान में रखा गया. इस पावर इंडेक्स में अमेरिका 0.0453 स्कोर के साथ पहले स्थान पर है. इसकी एक वजह अमेरिका का 700 बिलियन डॉलर का रक्षा बजट है. दूसरे नंबर पर रूस है, जिसका स्कोर 0.0501 रखा गया है. रूस के पास करीब 900,000 सैनिक हैं. चीन की बात करें, तो वो इस लिस्ट में तीसरे नंबर पर है. उसके सैनिकों की संख्या 2 मिलियन के आसपास है.

Ukraine टॉप-20 में भी नहीं
ब्रिटेन का नंबर लिस्ट में भारत और फ्रांस के बाद आता है. ब्रिटेन को 8वें नंबर पर रखा गया है. ब्राजील को टॉप 10 में जगह मिली है, लेकिन रूस का सामना कर रहा यूक्रेन टॉप-20 में भी नहीं है. ऐसे में समझा जा सकता है कि उसे अमेरिका और नाटो के सहयोग की कितनी जरूरत है. यूक्रेन 22वें नंबर पर है. Global Firepower की तरफ से बताया गया है कि इस लिस्ट को कई बातों को ध्यान में रख तैयार किया गया है. जिस देश का इंडेक्स स्कोर कम है, उसकी सेना ज्यादा ताकतवर है. सबसे परफेक्ट इंडेक्स स्कोर 0.0000 है.

ये हैं टॉप-10 में जगह बनाने वाले देश
1. अमेरिका – 0.0453
2. रूस – 0.0501
3. चीन – 0.0511
4. भारत – 0.0979
5. जापान – 0.1195
6. दक्षिण कोरिया – 0.1195
7. फ्रांस – 0.1283
8. ब्रिटेन – 0.1382
9. पाकिस्तान – 0.1572
10. ब्राजील – 0.1695