मुजफ्फरनगर में खतना करते समय बच्‍चे की नाई ने काट दी नस, 27 दिन से जिंदगी-मौत से जूझ रहा नवजात

While circumcising in Muzaffarnagar, the child's barber cut the vein, the newborn was battling for life and death for 27 days.
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर: मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar News) में नवजात की खतना करते हुए उसकी नस कट गई। खून अधिक बहने से नवजात की हालत बिगड़ गई। उसे एक निजी अस्पताल पर भर्ती कराया गया। शिकायत पर पुलिस ने खतना करने वाले नाई पर मुकदमा दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

शहर के जसवंतपुरी निवासी मो. आसिफ ने अपने 27 दिन के नवजात का खतना कराया था। उन्होंने थाना सिविल लाइन में मुकदमा दर्ज कराते हुए बताया कि 18 सितंबर को सुबह 8 बजे उन्होंने इमरान सलमानी और उसके पिता शमीम सलमानी निवासी महमूदनगर को बुलाया था। बताया कि इमरान सलमानी ने उसके नवजात पुत्र को इंजेक्शन देकर उसे सुन्न कर दिया था। जिसके बाद शमीम ने उसके बेटे की खतना की। उसके बाद उन्होंने बेटे के शरीर पर लाल दवा लगाकर पट्टी कर दी। जिसे उन्हें 24 घंटे के भीतर खोलने के लिए कहा। लेकिन काफी इंतजार के बाद भी खून नहीं रुका। सलमान और शमीम को बुलाकर दिखाया तो उन्होंने पट्टी करते हुए कहा कि गलती से उस्तरा थोड़ा अधिक चल गया। लेकिन खून रुक न पाने के चलते बेटे का रंग पीला पड़ गया।

इसके बाद उसे उपचार के लिए सदर बाजार स्थित नवजीवन अस्पताल ले जाया गया। आसिफ ने बताया कि भाई गुलबहार ने ब्लड डोनेट किया जो उसके नवजात को चढ़ाया गया। पुलिस ने आसिफ की तहरीर पर खतना करने वाले नाई इमरान और उसके पिता शमीम के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया। जिसके बाद इमरान को गिरफ्तार कर उसका चालान कर दिया गया।