गंदी आदत से बर्बादी की कगार पर पहुंचा युवक, कटवाना पड़ा प्राइवेट पार्ट

संगमनगरी प्रयागराज में वियाग्रा की ओवरडोज के कारण नवविवाहित का वैवाहिक जीवन खतरे में पडऩे का केस अधिक दिन पुराना नहीं हुआ है कि इंटरनेट मीडिया पर अश्लील वीडियो देखने के कारण अति उत्तेजित युवक ने ऐसा काम किया कि उसको प्राइवेट पार्ट का आपरेशन कराना पड़ा।

Young man reached the verge of ruin due to dirty habit, had to get his private part cut
Young man reached the verge of ruin due to dirty habit, had to get his private part cut
इस खबर को शेयर करें

प्रयागराज: संगमनगरी प्रयागराज में वियाग्रा की ओवरडोज के कारण नवविवाहित का वैवाहिक जीवन खतरे में पडऩे का केस अधिक दिन पुराना नहीं हुआ है कि इंटरनेट मीडिया पर अश्लील वीडियो देखने के कारण अति उत्तेजित युवक ने ऐसा काम किया कि उसको प्राइवेट पार्ट का आपरेशन कराना पड़ा। 28 वर्ष के युवक का जटिल आपरेशन किया गया और अब वह फिलहाल चिकित्सकों की निगरानी में अस्पताल में ही है।

इंटरनेट मीडिया पर पोर्न और इससे संबंधित अन्य अनैतिक सामग्री देखकर युवाओं की बिगड़ रही आदत जीवन बर्बाद होने का कारण भी बन सकती है। प्रयागराज के 28 वर्ष के युवक को इन्हीं हरकतों का खामियाजा भुगतना पड़ा। मास्टरबेशन के दौरान अधिक उत्तेजना में उसने अपने प्राइवेट पार्ट को इतना मोड़ दिया जिससे उसमें पेनाइल फ्रैक्चर हो गया। पेनाइल फ्रैक्चर के कारण युवक दर्द से तड़प उठा। घर से पिता स्वरूपरानी नेहरू चिकित्सालय पहुंचे, जहां यूरोलाजी विभाग विभाग के डाक्टर्स ने करीब एक घंटे तक जटिल आपरेशन करके उसका जीवन बर्बाद होने से बचा लिया है। उसका पेनाइल फ्रैक्चर रिपेयर किया गया है।

ब्रोकन पेनिस आमतौर पर तभी होता है जब प्राइवेट पार्ट उत्तेजना की मुद्रा में होता है। ढीला प्राइवेट पार्क टूटने या फ्रैक्चर के लिए अतिसंवेदनशील नहीं होता है क्योंकि कॉर्पस कोवर्नोसम उतना बड़ा नहीं होता जितना कि पूर्ण उत्तेजित होने पर होता है।

स्वरूप रानी नेहरू चिकिस्सालय में यूरोलाजी विभागाध्यक्ष डा. दिलीप चौरसिया की ओपीडी में युवक गंभीर हालत में पहुंचा। उसके साथ स्वजन भी थे। सोमवार शाम पेनिस फ्रैक्चर हो गया। शर्म के चलते युवक रात होने तक किसी डाक्टर के पास नहीं गया। स्थिति गंभीर होने और दर्द सहनशक्ति से बाहर होने पर उसने यह बात काफी देर बाद अपने घर वालों को बताई। ओपीडी में युवक ने डाक्टरों को पूरी दास्तां बयां की। युवक की हालत को देख कर डाक्टरों ने फौरन ही आपरेशन का निर्णय लिया और इसे जरूरी बताते हुए घर वालों की सहमति ली गई। इस दौरान आनन फानन में सभी आवश्यक दवाओं का इंतजाम किया। डा. दिलीप चौरसिया ने सहयोगियों के साथ युवक का पेनाइल फ्रैक्चर रिपेयर करते हुए उसको बड़ी राहत पहुंचाई। उसके कारपोरा कावेरनस (नस) को प्रोलीन नामक धागे से टांके लगाए। युवक अब करीब पांच दिनों तक सुपर स्पेश्यलिटी में डाक्टरों की निगरानी में भर्ती रहेगा।

छह घंटे का रहता है समय : यूरोलाजी विभाग के डाक्टर कहते हैं कि पेनिस फ्रैक्चर होने पर छह घंटे के भीतर आपरेशन हो जाए तो जीवन को बर्बादी से बचाया जा सकता है। युवक को अस्पताल आने में इससे भी ज्यादा देरी हुई लेकिन किसी तरह से उसका इलाज हो गया है। ऐसे आपरेशन फिलहाल प्रयागराज में कहीं और होना कठिन है।

असाधारण से भी हो सकता है फ्रैक्चर : डा. दिलीप चौरसिया कहते हैं कि असाधारण तरीके से करने पर भी पेनिस फ्रैक्चर हो सकता है। ऐसे मामले यदा कदा सामने आते हैं। लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए।

इससे पहले भी प्रयागराज में एक नवविवाहित ने वियाग्रा की ओवरडोज ले ली। राहत की बात यह थी कि डाक्टरों ने इस केस को चुनौती के रूप में लिया और दुर्लभ पेनाइल प्रोस्थेसिस आपरेशन कर उसे नई जिंदगी दे दी। अब जल्द ही युवक फिर सामान्य ढंग से जीवन जीने लगेगा। नपुंसक होने की कगार पर पहुंच चुके इस युवक के लिए मुंबई के डा. रूपिन शाह आपरेशन फार्मूले को अपनाया गया। यह प्रयागराज में पहली बार हुआ। इससे नपुंसकता का अभिशाप झेल रहे अन्य लोगों के लिए भी उम्मीद जग गई है। इसके साथ ही पत्नी से शारीरिक संबंध बनाने में भी कोई दिक्कत नहीं आएगी।