मुजफ्फरनगर में दरोगा-सिपाही के खिलाफ डीएम कार्यालय पर प्रदर्शन

Share this news

मुजफ्फरनगर। बहुजन एकता संघर्ष समिति के द्वारा एक दलित परिवार के लोगों के साथ अभद्रता और गाली गलौच करने के आरोप लगाते हुए दरोगा और सिपाही के खिलाफ आक्रोश प्रकट किया गया। पीड़ितों के साथ समिति के पदाधिकारियों ने मंगलवार को डीएम कार्यालय पर पहुंचकर प्रदर्शन किया और डीएम के नाम एक ज्ञापन सिटी मजिस्ट्रेट अनूप कुमार श्रीवास्तव को सौंपकर कार्यवाही की मांग की।

बहुजन एकता संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विपिन कैमरी और जिलाध्यक्ष शौकीन कुरैशी के साथ काफी संख्या में ग्रामीण आज कलेक्ट्रेट स्थित डीएम कार्यालय पर पहुंचे। यहां पर गांव सिसौली निवासी पीड़ित दिव्यांग सुनील कुमार, वेदपाल और कमलेश ने डीएम के नाम दिये ज्ञापन में बताया कि ग्राम में रास्ते को लेकर उनका अपने पडौसी विमला, विकास, मोहित और रोहित के साथ विवाद हो गया था। इस मामले में सीओ फुगाना ने शिकायत मिलने के बाद दोनों पक्षों के बीच फैसला भी करा दिया था।

इसके बाद भी उनके विरोधी पक्ष ने थाना भौरा कलां में मुकदमा भी दर्ज कराया, इसमें शिकायत मिलने पर दरोगा राहुल और सिपाही सुधीर ने 16 अक्टूबर को शाम के समय उनके घर में घुसकर मारपीट की और उनकी कोई भी बात सुनने को तैयार नहीं हुए। पीडित ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि बिना किसी पूछताछ व कानूनी प्रक्रिया के घर आकर अमानवीय व्यवहार, जाति सूचक शब्दों का प्रयोग व मारपीट की गई। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति से होने पर दरोगा द्वारा हमें जाति सूचक शब्द व अभद्र व्यवहार करते हुए सार्वजनिक रूप से अपमानित किया गया। उन्होंने इस मामले में एसएसपी के नाम भी ज्ञापन दिया और आरोपी दरोगा व सिपाही के खिलाफ मुकदमा कायम कर कार्यवाही करने की मांग की है।