CGBSE 10th-12th Result 2022: जल्द जारी होंगे परिणाम, टॉपरों के लिए खुशखबरी

CGBSE 10th-12th Result 2022: मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक छत्तीसगढ़ बोर्ड की कक्षा 10वीं व 12वीं के नतीजे अलग-अलग दिन घोषित किए जाएगें. कक्षा 10वीं के नतीजे 15 मई और कक्षा 12वीं के नतीजे 21 मई को जारी किए जा सकते हैं.

इस खबर को शेयर करें

नई दिल्ली: छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल (Chhattisgarh Board) की तरफ से कक्षा 10वीं व 12वीं की परीक्षा के नतीजे जल्द ही जारी किए जा सकते हैं. जानकारी के अनुसार परीक्षाओं के परिणाम मई के तीसरे सप्ताह में घोषित होने की उम्मीद है. बोर्ड की ओर से परीक्षा के परिणाम ऑनलाइन जारी किए जाएंगे. छात्र छत्तीसगढ़ बोर्ड की ऑफिशियल वेबससाइट cgbse.nic.in पर जाकर अपना रिजल्ट देख सकेंगे. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक छत्तीसगढ़ बोर्ड की कक्षा 10वीं व 12वीं के नतीजे अलग-अलग दिन घोषित किए जाएगें. कक्षा 10वीं के नतीजे 15 मई और कक्षा 12वीं के नतीजे 21 मई को जारी किए जा सकते हैं. बता दें कि छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मण्डल की ओर से बोर्ड की परीक्षाओं का आयोजन मार्च के महीने में किया गया था. इन परीक्षाओं में करीब आठ लाख छात्र-छात्राएं शामिल हुए थे.

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह ऐलान किया है कि कक्षा 10वीं व 12वीं की परीक्षा में पूरे राज्य भर में टॉप करने वाले शीर्ष 10 छात्रों और प्रत्येक जिले में प्रथम स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को हेलीकॉप्टर में सैर करवाई जाएगी. मुख्यमंत्री ने यह ऐलान बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के राजपुर गांव में आयोजित संवाददाता सम्मेलन के दौरान किया था. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह ऐलान छात्र-छात्राओं को शिक्षा के लिए प्रोत्साहित करने के लिए किया था.

बता दें कि पिछले साल छत्तीसगढ़ बोर्ड ने कोरोना महामारी के कारण कक्षा 10वीं की परीक्षाएं परंपरागत तरीके से आयोजित नहीं की थी. बोर्ड ने परीक्षाएं ओपन बुक फॉर्मेंट में आयोजित की थी. करीब 2.71 लाख छात्रों ने घर बैठकर परीक्षाएं दी थी. छात्रों को दिए गए असाइनमेंट के आधार पर ही नतीजे जारी किए गए थे, जिसमें 100 प्रतिशत छात्र पास हुए थे. साथ ही फर्स्ट डिविजन से पास होने वाले 96.81 प्रतिशत छात्र थे.

बात करें कक्षा 12वीं की पिछले साल की परीक्षा कि, तो छात्रों को घर बैठकर परीक्षा देने के लिए कहा गया था. छात्रों ने घर पर ही उत्तरपुस्तिकाएं लिखकर स्कूलों में जमा करवाई थी. इसके बावजूद कक्षा 12वीं की परीक्षा में 97 प्रतिशत छात्र पास हुए थे. परीक्षा परंपरागत तरीके से आयोजित ना करने की वजह से बोर्ड की ओर से टॉपर्स की लिस्ट जारी नहीं की गई थी.