उत्तराखंड में पार्टी को मजबूत करने के लिए कांग्रेस का नया प्लान, इन्हें दी जाएगी बड़ी जिम्मेदारी

करण माहरा ने कहा, पार्टी के वरिष्ठ नेता बूथों में जाकर कार्यकर्ताओं के साथ संवाद करेंगे. जो समस्याएं सामने आ रही हैं उनको किस तरह दूर किया जाए इसे लेकर काम किया जाएगा.

Congress's new plan to strengthen the party in Uttarakhand, they will be given big responsibility
Congress's new plan to strengthen the party in Uttarakhand, they will be given big responsibility
इस खबर को शेयर करें

उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव हारने के बाद ही कांग्रेस (Uttarakhand Congress) पार्टी को मजबूत करने के लिए तैयारियों में जुट गई थी. 2024 में देश में लोकसभा के चुनाव (Lok Sabha Election 2024) भी होने हैं. ऐसे में पार्टी अपने संगठन को मजबूत करने के लिए कई कदम उठा रही है. इसी कड़ी में उत्तराखंड में अपने संगठन को मजबूत करने के लिए कांग्रेस ने अपना नया प्लान तैयार किया है. दरअसल कांग्रेस बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत करना चाहती है. बूथ स्तर पर कार्यकर्ताओं को संगठित करने के लिए कांग्रेस जल्द ही बूथ नमन कार्यक्रम शुरू करने जा रही है. इसमें बूथ स्तर के कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेताओं को महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां दी जाएंगी. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करण माहरा (Uttarakhand Congress President Karan Mahara) ने इसके बारे में जानकारी दी है.

कार्यकर्ताओं को किया जाएगा सक्रिय
कांग्रेस की नीतियां और साथ ही प्रदेश की बीजेपी सरकार की जनविरोधी नीतियों (कांग्रेस के मुताबिक) को लेकर पार्टी एक अभियान के तौर पर अपने इस नमन कार्यक्रम को चलाने जा रही है. इसके साथ ही बूथ स्तर पर अपने कार्यकर्ताओं को भी पार्टी एक्टिव करेगी. दरअसल भारतीय जनता पार्टी में जिस तरह से पन्ना प्रमुख बनाए जाते हैं, उसी तर्ज पर कांग्रेस भी खुद को बूथ स्तर पर मजबूत करने के लिए काम करना चाहती है. पार्टी को ये मालूम है कि बिना संगठन के मजबूत हुए किसी भी चुनाव में अच्छा प्रदर्शन करना मुश्किल है.

क्या कहा प्रदेश अध्यक्ष करण माहरा ने
कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष करण माहरा ने कहा कि, पार्टी के वरिष्ठ नेता बूथों में जाकर कार्यकर्ताओं के साथ संवाद करेंगे. वोटर लिस्ट से कांग्रेस के वोटरों के नाम कटने या फिर कोई अन्य समस्याएं जो सामने आ रही हैं उनको किस तरह से दूर किया जाए इसको लेकर काम किया जाएगा. कुल मिलाकर देखा जाए तो कांग्रेस अपने आप को बूथ स्तर पर मजबूत करना चाहती है ताकि आने वाले चुनाव में पार्टी मजबूती के साथ बीजेपी का सामना कर सके.