Azadi Ka Amrit Mahotsav : राजस्थान में बच्चों ने बनाया वर्ल्ड रिकॉर्ड, सीएम गहलोत ने गिनाई 75 साल की उपलब्धियां

राजस्थान में आजादी के अमृत महोत्सव की रौनक देखने को मिली। एक करोड़ स्कूली बच्चों ने एक साथ देशभक्ति तराने गाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। इस दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि ये बहुत ही खुशी की बात है कि हमलोग आजादी का 75वां साल मना रहे हैं। इस कार्यक्रम में 75 साल के कामयाबियों के बारे में भी बताया जाता तो युवा पीढ़ी को इसके बारे में जानकारी मिलती।

Azadi Ka Amrit Mahotsav: Children set world record in Rajasthan, CM Gehlot counts 75 years of achievements
Azadi Ka Amrit Mahotsav: Children set world record in Rajasthan, CM Gehlot counts 75 years of achievements
इस खबर को शेयर करें

जयपुर : आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम में राजस्थान के बच्चों ने वर्ल्ड रेकॉर्ड बना दिया। एक करोड़ बच्चों ने एक साथ देशभक्ति गीत गाए। इस कार्यक्रम में सीएम अशोक गहलोत ने 75 साल की कामयाबियों के बारे में विस्तार से बताया। वैसे वे जब भी सार्वजनिक मंच पर होते हैं या मीडिया से मुखातिब होते हैं, तब पंडित जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और बेअंत सिंह का जिक्र जरूर करते हैं। गहलोत कहते हैं कि इन नेताओं ने देश में लोकतंत्र को जिन्दा रखा। इन्हीं की बदौलत देश ने प्रगति की और नई तकनीक के साथ विकास के नए आयाम छुए। जयपुर के सवाई मानसिंह स्टेडियम में हुए कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने यूपीए शासन की उपलब्धियों को एक बार फिर दोहराया।

75 साल की उपलब्धियों को सीएम ने बताया
राजस्थान के एक करोड़ स्कूली बच्चों ने एक साथ देशभक्ति तराने गाकर वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया। जयपुर में हुए राज्य स्तरीय कार्यक्रम में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत मौजूद रहे। इस दौरान बच्चों को संबोधित करते हुए गहलोत ने कहा कि जब देश आजाद हुआ था। तब देश में सुई भी बाहर से मंगवानी पड़ती थी। आज देश में क्या नहीं है। देश में आईआईटी, आईआईएम, एम्स और इसरो जैसे प्रतिष्ठित संस्थान हैं। उन्होंने कहा कि आजादी के 75 साल के सफर में शानदार उपलब्धियां रही। उपलब्धियों का गाथा बहुत लम्बी है, इन्हें भुलाया नहीं जा सकता। इन कामयाबियों का देश ही नहीं बल्कि दुनिया भी लोहा मानती है।

इंदिरा, राजीव और बेअंत सिंह को नमन
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी, राजीव गांधी और सरदार बेअंत सिंह की शहादत को याद किया। उन्होंने कहा कि इंदिरा गांधी ने शहादत दे दी लेकिन देश को खालिस्तान नहीं बनने दिया। राजीव गांधी और सरदार बेअंत सिंह शहीद हो गए लेकिन आतंकवाद को नेस्तनाबूद किया। पाकिस्तान का उदाहरण देते हुए गहलोत ने कहा कि वहां बार-बार सैनिकों का शासन हो गया लेकिन हमारे देश में प्रधानमंत्री हटते गए। सरकारें बदल गई लेकिन लोकतंत्र कायम रहा।

75 साल की उपलब्धियां बताते तो अच्छा होता
पिछले दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि केन्द्र सरकार के आह्वान पर देश आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। ये बड़े हर्ष की बात है लेकिन इस मौके पर सरकार को 75 साल की उपलब्धियों को भी देश के सामने रखना चाहिए। 75 साल के सफर में देश ने क्या-क्या उपलब्धियां हासिल की? किन हालातों में की? ये सब बातें भी आजादी के अमृत महोत्सव के साथ देश के सामने रखी जाती तो युवा पीढ़ी को भी इसके बारे में पता चलता। चूंकि आजादी के इन 75 सालों में 60 साल तक यूपीए का शासन रहा। ऐसे में अशोक गहलोत चाहते हैं कि यूपीए शासन की उपलब्धियों को भी देश के सामने रखा जाना चाहिए।

हर घर तिरंगा फरहाने का आह्ववान
स्कूली बच्चों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि युवा ही भारत का भविष्य है। इन्हीं के कंधों पर भारत के भविष्य का भार है। हिन्दू, मुस्लिम, सिख, इसाई, बौद्ध, जैन तमाम धर्मों के लोग भाईचारे से रहें और एकता का परिचय दें। गहलोत ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 13, 14 और 15 अगस्त को हर घर तिरंगा फहराने का आह्वान किया है। हम सबको अपने-अपने घरों पर तिरंगा फहरा कर दुनिया को मैसेज देना है कि हिन्दुस्तान के हर नागरिक में आजादी के अमृत महोत्सव का जलवा है।