मुजफ्फरनगर में मनचलों की करतूत से उजड़ा परिवार, मासूम विवाहिता की चली गई जान

शादी के बाद भी मनचलों से परेशान होकर आत्महत्या करने वाली पूजा पाल के परिजनों ने पुलिस को खरी-खोटी सुनाई। मृतक महिला का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया। परिजनों ने कहा कि पुलिस समय रहते अगर मनचलों पर शिकंजा कसती, तो विवाहिता की जान बच सकती थी।

In Muzaffarnagar, the family was ruined by the handiwork of the miscreants, the innocent married woman lost her life
In Muzaffarnagar, the family was ruined by the handiwork of the miscreants, the innocent married woman lost her life
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। शादी के बाद भी मनचलों से परेशान होकर आत्महत्या करने वाली पूजा पाल के परिजनों ने पुलिस को खरी-खोटी सुनाई। मृतक महिला का अंतिम संस्कार करने से इनकार कर दिया। परिजनों ने कहा कि पुलिस समय रहते अगर मनचलों पर शिकंजा कसती, तो विवाहिता की जान बच सकती थी। सीओ सदर मौके पर पहुंचे और किसी तरह पीड़ित परिवार को मनाया। 19 घंटे बाद अंतिम संस्कार किया गया।

थाना सिविल लाइन क्षेत्र के मोहल्ला जनकपुरी निवासी पूजा पाल ने तीन मनचलों से परेशान होकर आत्महत्या कर ली थी। पोस्टमार्टम के बाद शव बुधवार शाम सात बजे घर पहुंचा और परिजनों ने आरोपियों की गिरफ्तारी होने तक अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया। पुलिसकर्मी पीड़ित परिवार को मनाने की कोशिश करते रहे।

थाना सिविल लाइन प्रभारी संतोष त्यागी पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे, लेकिन परिवार ने अंतिम संस्कार से इनकार कर दिया। पीड़ित परिवार का कहना था कि पुलिस की लापरवाही से जान गई है। परिजनों ने पुलिस को खरी-खोटी भी सुनाई। मोहल्ले के जिम्मेदार लोग एकत्र हो गए।

सीओ सिटी कुलदीप कुमार भी मौके पर पहुंचे। मृतका की बहनों ने उन्हें पूरा प्रकरण बताया। सीओ ने कहा कि आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी होगी। करीब 19 घंटे बाद दोपहर दो बजे अंतिम संस्कार किया गया।

तीनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा, दबिश
पुलिस ने शामली के नाला गांव निवासी सोनू, काजीखेड़ा गांव निवासी विजय पाल और सिसौली कसबा निवासी राहुल के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है।

ये था मामला
तितावी थाना क्षेत्र के काजीखेड़ा निवासी सुभाष की बेटी पूजा पाल की शादी 23 अप्रैल 2022 को थाना सिविल लाइन के मोहल्ला जनकपुरी निवासी दीपक से हुई थी।

परिजनों का आरोप है कि कांधला के गांव नाला निवासी सोनू की बुआ काजीखेड़ा गांव में रहती है। वह शादी से पहले से ही पूजा को परेशान कर रहा था। इस दौरान परिजनों ने पूजा की शादी कर दी। लेकिन सोनू ने काजीखेडा निवासी विजय पाल और सिसौली निवासी राहुल के साथ मिलकर पूजा को परेशान करना नहीं छोड़ा। परेशान होकर पूजा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।