जयंत चौधरी ने मदन भैया के प्रचार में झोंकी ताकत, घर-घर बांट रहे वोटर पर्ची

मुजफ्फरनगर की खतौली सीट का उप चुनाव धीरे-धीरे रालोद मुखिया जयंत चौधरी की प्रतिष्ठा का प्रश्न बनता जा रहा है। विक्रम सैनी को अयोग्य करार दिलाने के बाद जयंत चौधरी अपनी सियासी सलाहियत से अब मदन भैया को जितवाने का सफर भी निर्बाध तय कराना चाहते हैं।

Jayant Chaudhary put his energy in campaigning for Madan Bhaiya, distributing voter slips from house to house
Jayant Chaudhary put his energy in campaigning for Madan Bhaiya, distributing voter slips from house to house
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनग। मुजफ्फरनगर की खतौली सीट का उप चुनाव धीरे-धीरे रालोद मुखिया जयंत चौधरी की प्रतिष्ठा का प्रश्न बनता जा रहा है। विक्रम सैनी को अयोग्य करार दिलाने के बाद जयंत चौधरी अपनी सियासी सलाहियत से अब मदन भैया को जितवाने का सफर भी निर्बाध तय कराना चाहते हैं।

उन्होंने क्षेत्र में दो दिन के भीतर 21 गांव में नुक्कड़ सभा करने के साथ ही मतदाताओं तक वोटर पर्ची पहुंचाने का काम भी संभाला है। वह लोगों से सीधे रूबरू हो रहे हैं। जयंत चौधरी आज भी खतौली विधानसभा क्षेत्र के 3 गांव में मतदाताओं को अपने हाथों से वोटर पर्ची वितरित करने जा रहे हैं। सोमवार को उन्होने गांव खोकनी में जाकर अपने हाथों से मतदाताओं को वोटर पर्ची वितरित की।

सियासी सलाहियत का पैमाना बनी खतौली सीट
खतौली उप चुनाव बड़े राजनीतिक दलों की प्रतिष्ठा का सवाल बनती जा रही है। उप चुनाव में इन दलों के नेताओं की सियासी सलाहियत का भी इम्तेहान होना है। रालोद मुखिया जयंत चौधरी तो गठबंधन प्रत्याशी की जीत के लिए दिन रात एक किये हुए हैं। वइ इस चुनाव को परिवर्तन का द्योतक भी बता रहे हैं। बयान और सियासी तिगड़म से इतर रालोद मुखिया व्यवहारिक परिश्रम को भी अहमीयत दे रहे हैं। यही कारण है कि उन्होंने गांव-गांव जाकर मतदाताओं से रूबरू होना तय किया।

20 और 21 नवंबर को जयंत चौधरी ने क्षेत्र के 21 गांव का दौरा कर नुक्कड़ सभाएं की और लोगों से सीधे मुखातिब हुए। इसके बाद नवीन मंडी स्थल पर दो दिन पहले ही वह गठबंधन के घटक आजाद समाज पार्टी नेता चन्द्रशेखकर और सपा में सक्रिय पूर्व सांसद मुनव्वर हसन की पुत्री इकरा हसन के साथ जनसभा में लोगों से रूबरू हुए। इसके साथ ही उन्होंने लोगों से सीधे जुड़ने के लिए मतदाता पर्ची वितरण का भी कार्यक्रम तय किया है।

जयंत 3 गांव में मतदाता पर्ची वितरित करेंगे आज
रालोद ने चुनाव आयोग का पत्र लिखकर भाजपा पर आरोप लगाया है कि वह मुस्लिमों बाहुल्य बूथों पर मतदान को धीमा करने की साजिश रच रही है। रालोद नेता यह भी आरोप लगा चुके हैं मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों में मतदाता पर्ची नहीं पहुंचाई जाती। इन सब बातों को ध्यान में रख और मतदाता से सीधी पैठ बनाने के लिए जयंत स्वयं मतदाता पर्ची वितरण करने जा रहे हैं। सोमवार को उन्होंने फहीमपुर कला, खोकनी और बिहारीपुर गांव में अपने हाथों से मतदाताओं को वोटिंग पर्ची देने का कार्यक्रम जारी किया है।