मुजफ्फरनगर में भीषण हादसे से हाहाकार, कार के उड़े परखच्चे, दंपती समेत चार की मौत

मुजफ्फरनगर में दिल्ली-देहरादून हाईवे पर शनिवार देर रात एक दर्दनाक हादसे में तीन लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं दो को गंभीर अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया जहां आज सुबह एक महिला की उपचार के दौरान मौत हो गई।

Outcry due to a horrific accident in Muzaffarnagar, four people including a couple died
Outcry due to a horrific accident in Muzaffarnagar, four people including a couple died
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में दिल्ली-देहरादून हाईवे पर शनिवार देर रात में भीषण हादसा हुआ। हादसे के दौरान पलटे एक लोडेड कैंटर की चपेट में आने से एक कार सवार दंपति और उनके भाई की मासूम बेटी की मौत हो गई, जबकि दो अन्य घायल हो गए। घायलों को हायर सेंटर रेफर किया है। हादसे के दौरान हाईवे पर जाम गया, जिसे पुलिस ने मशक्कत कर खुलाया। बताया गया कि घायलों में शामिल एक महिला की उपचार के दौरान आज दोपहर को मौत हो गई।

पुलिस के अनुसार, माल से लदा एक कैंटर रात में हरिद्वार की तरफ से दिल्ली की तरफ जा रहा था। नई मंडी कोतवाली क्षेत्र के गांव रथेडी बाईपास के पास अचानक कैंटर अनियंत्रित होकर डिवाइडर को लांघ कर दिल्ली से देहरादून जाने वाले मार्ग पर पलट गया।

इसी दौरान दिल्ली की तरफ से तेज गति से आ रही ब्रेजा कार कैंटर से जा टकराई और बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। इसमें सवार लोग अंदर ही फंस गए। राहगीरों की सूचना पर मंडी कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने राहगीरों की मदद से कार में फंसे लोगों को बाहर निकाला।

मंडी कोतवाली प्रभारी महावीर सिंह ने बताया कि हादसे में गौतमबुद्धनगर निवासी आशीष अवस्थी (28) और उनकी पत्नी नूपुर अवस्थी ( 26 ) के साथ ही उसके भाई दीपक अवस्थी की पुत्री काशमी (2) की कार से बाहर निकालने से पहले ही मौत हो चुकी थी।

आशीष व उनकी पत्नी नूपुर व केसरी की मौत हो गई थी। रत्ना व उनके पति दीपक को घायल हालत में मेरठ रेफर किया गया था। उपचार के दौरान रविवार को रत्ना की भी मौत हो गई।

बच्ची व पति-पत्नी के शव का मुजफ्फरनगर में पोस्टमार्टम कराया जा रहा है, जबकि रत्ना के शव का मेरठ में पोस्टमार्टम होगा। नई मंडी कोतवाली प्रभारी महावीर सिंह का कहना है हादसे की अभी तहरीर नहीं आई है। तहरीर आने पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा। कैंटर को पुलिस ने कब्जे में लिया है।

पुलिस ने बताया कि हादसे के बारे में मृतक व घायलों के परिजनों को सूचना दी है। शव मोर्चरी भिजवा दिए हैं। दोनों परिवार मूल रूप से रीवा मध्य प्रदेश के रहने वाले हैं और वर्तमान में गोरीनिशा कॉलोनी गौतमबुद्धनगर में रहते हैं।