अभी अभी: राजस्थान में भीषण गर्मी से हालात काबू से बाहर, जानिए कब मिलेगी राहत

राजस्थान के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस से लेकर 48.1 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया। वहीं राज्य के पश्चिमी हिस्से के सभी जिलों में भीषण गर्मी और लू चलने से जन जीवन प्रभावित हुआ है

Right now: Situation out of control due to scorching heat in Rajasthan, know when you will get relief
Right now: Situation out of control due to scorching heat in Rajasthan, know when you will get relief
इस खबर को शेयर करें

जयपुर। राजस्थान के अधिकतर हिस्सों में अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस से लेकर 48.1 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया। वहीं राज्य के पश्चिमी हिस्से के सभी जिलों में भीषण गर्मी और लू चलने से जन जीवन प्रभावित हुआ है। बाड़मेर में अधिकतम तापमान 48.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने इसकी जानकारी दी।

मौसम विभाग के अनुसार गुरुवार को बाड़मेर 48.1 डिग्री सेल्सियस के साथ राज्य का सबसे गर्म स्थान रहा। वहीं जालौर में अधिकतम तापमान 47.7 डिग्री, गंगानगर में 47.3 डिग्री, बीकानेर- पिलानी-फलोदी में 47.2-47.2 डिग्री ,नागौर में 47 डिग्री, चूरू में 46.9 डिग्री, कोटा-बूंदी-हनुमानगढ में 46.7-46.7 डिग्री, बांरा में 46.3 डिग्री, जोधपुर-डूंगरपुर में 46-46 डिग्री, सिरोही में 45.9 डिग्री, सवाईमाधोपुर-अलवर-करौली में 45.8-45.8 डिग्री, चित्तौड़गढ़ में 45.6 डिग्री, और अन्य प्रमुख स्थानों में 45.1 डिग्री सेल्सियस से लेकर 43.6 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया।

विभाग ने बताया कि राज्य के अधिकतर हिस्सो में बुधवार रात का तापमान 33.4 डिग्री सेल्सियस से लेकर 24 डिग्री सेल्सियस के बीच दर्ज किया गया। मौसम विभाग के अनुसार राज्य के अधिकतर हिस्सों में आगामी चार-पांच दिनों में भीषण लू के चलने की संभावना हैं। जयपुर मौसम केन्द्र के निदेशक राधेश्याम शर्मा ने बताया कि आगामी 24 घंटों के दौरान राज्य के पश्चिमी हिस्सों के जोधपुर और बीकानेर संभाग के सभी जिलों में अधिकतम तापमान 47 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की प्रबल संभावना है। इसके अलावा नागौर, पाली, शेखावटी के जिलों में भी भीषण लू की परिस्थिति रहेगी और यहां ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है।

16 मई के बाद तापमान में कमी
शर्मा ने कहा कि पूर्वी राजस्थान के अधिकतर जिलों में यलो और ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है यानि लू और कहीं-कहीं भीषण लू की परिस्थिति बनी रहेगी। उन्होंने कहा कि 15 मई को एक नया पश्चिमी विक्षोभ प्रभावी होगा, जिसके असर से राजस्थान में 16 मई से तापमान में दो से तीन डिग्री सेल्सियस की कमी होगी।