ऐसी नदी जिसमें बहता है पांच रंगों का पानी, एक बार देखेंगे तो हो जाएंगे दीवाने

एक ऐसी नदी है जिसमें इंद्रधनुष की तरह ही पांच रंगों का पानी बहता है. ये बात सुनकर आपको हैरानी हो रही होगी, लेकिन ये बिल्कुल सच है.

Such a river in which water of five colors flows, once you see it, you will become crazy
Such a river in which water of five colors flows, once you see it, you will become crazy
इस खबर को शेयर करें

River of Five Colors: आपने आसमान में बारिश के मौसम में इंद्रधनुष देखा होगा. इंद्रधनुष में दिखने वाले सात रंगों की सुंदरता तो कुछ ही वक्त के लिए दिखती है, लेकिन क्या आपको पता है कि एक ऐसी नदी है जिसमें इंद्रधनुष की तरह ही पांच रंगों का पानी बहता है. ये बात सुनकर आपको हैरानी हो रही होगी, लेकिन ये बिल्कुल सच है. इस नदी की सुंदरता हर किसी का मन मोह लेती है. इसे देखने के लिए दुनियाभर से लोग आते हैं. आइए इसके बारे में विस्तार से बताते हैं.


हम बात कर रहे हैं, कैनो क्रिस्टल्स (Cano Cristales) नदी की. ये नदी दक्षिणी अमेरिका महाद्धीप के कोलंबिया में है. नेशनल जियोग्राफी ने इसे गार्डन ऑफ ईडन (Garden of Eden) यानी देवता का बगीचा बताया है.

कैनो क्रिस्टल्स नदी कोलंबिया वासियों को ही नहीं बल्कि दुनिया भर के लोगों को हैरान कर देती है. इस नदी में पांच अलग-अलग रंगों का पानी बहता है. इसमें पीला, हरा, लाल, काला और नीला रंग शामिल है. पांच रंगों के पानी के कारण इस नदी को रिवर ऑफ फाइव कलर्स (River of Five Colors) भी कहा जाता है. इसके अलावा इसे लिक्विड रेनबो (Liquid Rainbow) के नाम से भी जाना जाता है.

इस नदी को देखने पर ये किसी खूबसूरत पेंटिंग की तरह दिखती है. पांच रंगों के पानी की वजह से इस नदी को दुनिया की सबसे खूबसूरत नदी माना जाता है. इस लिक्विड रेनबो नदी की खूबसूरती जून से लेकर नवंबर के बीच देखने को मिलती है. इन महीनों में इस नदी को देखने के लिए दूर दूर से लोग आते हैं.

इसे देखकर आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि आखिर इसके पानी का रंग कैसे बदलता है. तो आपको बता दें कि नदी के पानी रंग नहीं बदलता. बल्कि इस नदी का पानी, नदी में मौजूद एक खास पौधे मैकेरेनिया क्लेविगरा के कारण रंग बदलने लगता है. इस पौधे की वजह से ही ऐसा लगता है कि जैसे पूरी नदी प्राकृतिक रूप से रंगीन है. यह पौधा नदी की तलहटी में मौजूद रहता है.

जैसे ही इस पौधे पर सूर्य की रोशनी पड़ती है, इसके ऊपर की धारा सूर्ख लाल हो जाती है. वहीं धीमी और तेज रोशनी के आधार पर इस पौधे का रंग नदी के पानी पर झलकता है. बैंगनी से लेकर चटख लाल रंग के बीच आने वाले सभी मिलावटी रंग दिन के अलग-अलग समय दिखाई पड़ते हैं.