बीच सडक पुलिसवाले ने महिला दरोगा पर चलाई गोली, खुद की भी उडाई खोपडी, पूरा शहर हैरान

भोपाल के श्यामला हिल्स थाने में पदस्थ टीआई हाकम सिंह पंवार ने इंदौर के पुलिस कंट्रोल रूम में खुद को गोली मारकर सुसाइड कर लिया। उन्होंने पहले एक महिला सब इंस्पेक्टर को गोली मारी, इसके बाद खुद जान दे दी।

The middle road policeman fired at the female inspector, he also blew his own skull, the whole city was shocked
The middle road policeman fired at the female inspector, he also blew his own skull, the whole city was shocked
इस खबर को शेयर करें

इंदौर। भोपाल के श्यामला हिल्स थाने में पदस्थ टीआई हाकम सिंह पंवार ने इंदौर के पुलिस कंट्रोल रूम में खुद को गोली मारकर सुसाइड कर लिया। उन्होंने पहले एक महिला सब इंस्पेक्टर को गोली मारी, इसके बाद खुद जान दे दी। पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारी मिश्र ने इसे प्रेम-प्रसंग का मामला बताया है। टीआई हाकम सिंह यहां आकर महिला एसआई के साथ कॉफी पी रहे थे। दोनों के बीच किसी बात को लेकर अचानक विवाद हुआ और टीआई ने गोली चला दी।

कंट्रोल रूम के बाहर दो फायर की आवाज सुन अन्य पुलिसकर्मी जब मौके पर पहुंचे तो वहां कार के पास टीआई हाकम सिंह पवार और एसआई रंजना लहूलुहान पड़े थे। पुलिसकर्मियों ने समझा कि दोनों को किसी ने गोली मारी है। जब वे पास पहुंचे तो माजरा समझ आया। टीआई के पैरों के पास उनकी सर्विस रिवॉल्वर पड़ी हुई थी। उन्होंने जब महिला तो हिलाया तो वह उठकर बैठ गईं और सड़क पर आ गईं। इसके बाद उसे अस्पताल ले जाया गया।

जबकि महिला एसआई रंजना खांडे घायल हो गई हैं। जिन्हें निजी अस्पताल ले जाया गया है। सिटी स्कैन में रंजना के कान के पास गोली लगने की बात सामने आई है। पुलिस अधिकारी मामले की जांच में जुट गए हैं। घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर FSL व अन्य टीमें पहुंच गईं। पुलिस कमिश्नर हरिनारायण चारी मिश्र भी पुलिस कंट्रोल रूम पहुंचे। 58 साल के टीआई हाकम सिंह कॉन्स्टेबल के पद पर पुलिस में भर्ती हुए थे। वह इंदौर, महेश्वर, राजगढ़, खरगोन और भोपाल में पदस्थ रहे। महेश्वर में भी थाना प्रभारी थे। बताया जा रहा है कि हाकम सिंह ने 3 शादियां की थी।

विवाद की ये वजह भी आई सामने
घायल रंजना ने मीडिया से सीधे तौर पर कोई बात नहीं की। लेकिन उनके नजदीकी लोगों का कहना है कि टीआई हाकम सिंह पंवार और महिला एसआई के बीच हुडंई क्रेटा गाड़ी को लेकर विवाद चल रहा था। दरअसल महिला ने हाकम सिंह से गाड़ी खरीदी थी, लेकिन टीआई ने अब तक गाड़ी ट्रांसफर नहीं की थी। इसी बात को लेकर दो-तीन दिन से दोनों में तनातनी चल रही थी। इसे लेकर शुक्रवार को भी दोनों में विवाद हुआ था। ये भी बात सामने आ रही है कि टीआई हाकम सिंह इंदौर में पोस्टिंग के दौरान महिला एसएआई के घर में किराये से रह चुके है।

भोपाल के एडिशनल डीसीपी रामस्नेही मिश्रा का कहना है कि टीआई हाकम सिंह 6 फरवरी 2022 को भोपाल के श्यामला हिल्स थाने में पदस्थ हुए थे। वह खटलापुरा इलाके में फ्लैट लेकर किराए से रहते थे। मूलत: तराना उज्जैन के रहने वाले हाकम सिंह भोपाल में अकेले रहते थे। 21 जून को तीन दिन की छुट्टी लेकर गए थे। गुरुवार को उन्हें जॉइन करना था।

घायल एसआई रंजना खरगोन जिले की रहने वाली हैं और उनकी पहली पोस्टिंग धार में हुई थी। वे साल 2018 में इंदौर आई थीं। पुलिस कंट्रोल रूम में लीगल पर ही ASI के पद पर थीं। वर्ष 2014 में ज्वाइन हुई थी। वे सीधी भर्ती के जरिए विभाग में ज्वाइन हुई थीं। पुलिस अभी महिला एसआई के परिवार से बात कर रही है। फिलहाल घायल महिला एसआई का उपचार चल रहा है और उनकी हालत ठीक बताई जा रही है। परिवार के लोग अभी कुछ भी कहने की स्थिति में नहीं हैं, जबकि रंजना को डॉक्टरों ने अभी बोलने से मना किया है।