अग्निपथ योजना के खिलाफ उकसा रहे थे 5 फर्जी अभ्यर्थी, निकला NSUI कनेक्शन

सेना में भर्ती की नई स्कीम 'अग्निपथ योजना' के खिलाफ युवाओं को भड़काने के मामले में उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस के मुताबिक, जांच पड़ताल में पता चला है कि गिरफ्तार लोगों का पॉलिटिकल कनेक्शन है.

5 fake candidates were provoking against Agneepath scheme, NSUI connection turned out
5 fake candidates were provoking against Agneepath scheme, NSUI connection turned out
इस खबर को शेयर करें

सहारनपुर। सेना में भर्ती की नई स्कीम ‘अग्निपथ योजना’ के खिलाफ युवाओं को भड़काने के मामले में उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस के मुताबिक, जांच पड़ताल में पता चला है कि गिरफ्तार लोगों का पॉलिटिकल कनेक्शन है. इनमें से दो लोग लोग अलग-अलग पार्टी के पदाधिकारी हैं और बाकी लोग भी मेंबर्स हैं.

सहारनपुर की रामपुर मनिहारान पुलिस के मुताबिक, कुल पांच लोगों को अग्निपथ योजना के खिलाफ युवाओं को भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. ये सभी सेना के फर्जी अभ्यर्थी बनकर युवकों को अग्निपथ योजना के खिलाफ भड़का रहे थे.

पुलिस की जांच में सामने आया पॉलिटिकल कनेक्शन

पुलिस ने बताया कि जांच पड़ताल में सामने आया कि ये पांचों आरोपी किसी राजनीतिक दल के सदस्य हैं. फिलहाल, पुलिस पांचों आरोपियों से सख्ती से पूछताछ कर रही है. गिरफ्तार किए गए आरोपियों में पराग, मोहित, सौरभ, उदय और एक अन्य शामिल है.

सहारनपुर पुलिस के अनुसार, गिरफ्तार किए गए आरोपियों में से एक पराग पवार है, जो अखिल भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की स्टूडेंट विंग एनएसयूआई का जिला अध्यक्ष है. वहीं एक अन्य का नाम संदीप चौधरी है जो एक समाजवादी पार्टी का जिला पंचायत सदस्य रह चुका है. इन सभी 5 लोगों की गिरफ्तारी की जा चुकी है और इन्हें जेल भेजा जा रहा है.

सहारनपुर के एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि हम इंश्योर करेंगे कि दूसरा कोई व्यक्ति सेना में भर्ती की तैयारी कर रहे युवाओं को अनर्गल बातों में या भड़काकर या ऐसी कोई बात करता है तो हम लोग उसके खिलाफ एक्शन लेंगे.

वहीं, नेशनल स्डूडेंट यूनियन ऑफ इंडिया (NSUI) के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन ने कहा है कि सहारनपुर में हमारे सदस्यों के खिलाफ अग्निपथ योजना के खिलाफ शांतिपूर्ण धरना आयोजित करने पर गिरफ्तार किया गया है. उनके खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज किया गया है. उन्होंने कहा कि पहले दिन से एनएसयूआई ने अग्निपथ योजना का विरोध कर रही है. एनएसयूआई पूरे देश में शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन कर रहा है. बीजेपी के निर्देश पर हमारे कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार किया जा रहा है. आज सहारनपुर में हमारे कार्यकर्ताओं के खिलाफ फर्जी केस दर्ज किया गया है जिसका कोई आधार नहीं है. हमारे कार्यकर्ता शांतिपूर्ण तरीके से विरोध कर रहे थे. हम विरोध के दौरान किसी भी तरह की हिंसा के खिलाफ हैं.

क्या है अग्निवीर योजना

तीनों सेना में भर्ती के लिए केंद्र सरकार ने हाल ही में अग्निपथ योजना का ऐलान किया था. सेना में अग्निपथ योजना के तहत चार साल के लिए अग्निवीरों की भर्ती की जानी है. योजना के मुताबिक चार साल की सेवा पूरी करने के बाद 75 फीसदी अग्निवीरों को सेवा निधि देकर सेवा से मुक्त कर दिया जाएगा. चार साल की सेवा के बाद अग्निवीर क्या करेंगे, ये योजना के ऐलान के दिन से ही बड़ा सवाल बना हुआ है. यूपी समेत कई राज्य भी भर्तियों में अग्निवीरों को प्राथमिकता देने का ऐलान कर चुके हैं.