जीजा के किए थे 31 टुकड़े तो बदला लेने के लिए आरोपी के भाई को मारी 31 गोलियां

पुलिस ने बताया कि शादाब और आरोपी के बीच उस समय दुश्मनी हो गई थी जब बीती 18 मार्च को हापुड़ निवासी इरफान नामक शख्स की हत्या कर दी गई थी और हत्यारों ने उसके 31 टुकड़े कर दिए थे. इरफान की निर्मम हत्या मामले में मृतक शादाब का भाई डासना जेल में निरूद्ध है जबकि शादाब ही इस मामले में पैरोकार था.

इस खबर को शेयर करें

बुलंदशहर. शहर के गुलावठी में तीन दिन पहले हुए शादाब हत्याकांड मामले में पुलिस ने चौंकाने वाला खुलासा किया है. पुलिस ने मामले से पर्दा हटाते हुए बताया कि हत्याकांड के मुख्य आरोपी कासिफ ने अपने जीजा इरफान की मौत का बदला लेने के लिए खौफनाक हत्याकांड को अंजाम दिया. इसके लिए उसने दिल्ली से भाड़े के शूटर्स भी बुलाए. पुलिस ने बताया कि शादाब और आरोपी के बीच उस समय दुश्मनी हो गई थी जब बीती 18 मार्च को हापुड़ निवासी इरफान नामक शख्स की हत्या कर दी गई थी और हत्यारों ने उसके 31 टुकड़े कर दिए थे. इरफान की निर्मम हत्या मामले में मृतक शादाब का भाई डासना जेल में निरूद्ध है जबकि शादाब ही इस मामले में पैरोकार था.

हत्‍या के बाद से ही बदला लेने की आग
इरफान की हत्या के बाद से ही उसका साला कासिफ और भाई बदला लेने की फिराक में थे. मृतक के हत्यारोपी भाई की पैरोकारी नहीं होने पर इरफान के साले कासिफ ने दिल्ली से 3 भाड़े के शार्प शूटर्स व एक अन्य को साथ लेकर गुलावठी में शादाब हत्याकांड की खौफनाक वारदात को अंजाम दिया था. इस दौरान शूटर्स और कासिफ ने शादाब को 31 गोलियां मारी. गोलियां बरसाते समय आरोपियों को ये भी ध्यान नहीं था कि वे किस को गोली मार रहे हैं और उन्होंने अपने ही एक साथी शूटर को गोली मारकर घायल भी कर दिया.

अब पुलिस ने शूटर्स को गिरफ्तार कर वारदात में इस्तेमाल पिस्टल्स, कारतूस व दुपहिया वाहन भी बरामद कर लिए हैं. गौरतलब है कि 3 दिन पहले बुलंदशहर के कस्बा गुलावठी में हापुड़ के हाफिजपुर थाना क्षेत्र निवासी झोलाछाप डॉक्टर शादाब की गोलीयों से छलनी कर निर्मम हत्या कर दी गई थी. फिलहाल पुलिस ने भाड़े पर लाये गए शूटर्स को गिरफ्तार कर हत्याकांड की कड़ियां जोड़कर वारदात का खुलासा कर दिया है. जबकि पुलिस घटना के साजिशकर्ता कासिफ व अन्य लोगों की अब भी तलाश कर रही है.