कानून व्यवस्था पर अखिलेश ने किया सवाल तो सीएम योगी ने दिया ऐसा करारा जवाब

यूपी में 18वीं विधानसभा के प्रथम सत्र के दूसरे दिन विधानमंडल में राजनीति दलों के नेताओं ने राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा की। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधों को लेकर सरकार पर सवाल उठाए

Akhilesh asked a question on law and order, then CM Yogi gave such a befitting reply
Akhilesh asked a question on law and order, then CM Yogi gave such a befitting reply
इस खबर को शेयर करें

लखनऊ। यूपी में 18वीं विधानसभा के प्रथम सत्र के दूसरे दिन विधानमंडल में राजनीति दलों के नेताओं ने राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा की। इस दौरान नेता प्रतिपक्ष अखिलेश यादव ने प्रदेश में महिलाओं के खिलाफ हो रहे अपराधों को लेकर सरकार पर सवाल उठाए। उन्होंने चंदौली, प्रयागराज और ललितपुर की घटनाओं का जिक्र करते हुए कहा कि यूपी में महिलाओं के खिलाफ सर्वाधिक अपराध हो रहे हैं। कोई कल्पना भी नहीं कर सकता है कि जहां अपराधियों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति होने की बातें की जाती हैं वहां पुलिस घटना (चंदौली की घटना) को दूसरा रूप देने के लिए लड़की के शव को फांसी से लटका देती है।

अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री इसका जवाब दें कि अपराध हो जाने के बाद जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाई जाती है तो महिलाओं के खिलाफ अपराध न हों उसके लिए सरकार के पास क्या नीति है?

अखिलेश यादव के सवाल पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीखा पलटवार करते हुए कहा कि भाजपा सरकार अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करती है। भाजपा की सरकार में ये नहीं कहा जाता कि लड़के हैं गलती कर देते हैं। अगर अपराधी है तो जीरो टॉलरेंस की नीति के तहत ही कार्रवाही की जाती है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में भाजपा की सरकार एक बार फिर सत्ता में पूर्ण बहुमत से वापस लौटी है ये इसका प्रमाण है कि हमारी सरकार में अपराधियों का संरक्षण नहीं किया जाता है। अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

सोमवार को अपने अभिभाषण में विधानमंडल के दोनों सदनों को संबोधित करते हुए राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कहा कि बीते पांच वर्षों में योगी सरकार 1.0 ने प्रदेश में विकास की नींव डालने का काम किया था और आगामी पांच वर्षों में सरकार इस पर विकास की भव्य इमारत खड़ी करेगी।

उन्होंने कहा कि सरकार प्रदेश के विकास के लिए निवेश बढ़ाने, आधारभूत संरचना सुदृढ़ करने व प्रदेश को देश का अग्रणी राज्य बनाने का कार्य कर रही है। सरकार ने सेक्टरवार 100 दिन, छह माह, एक, दो व पांच साल की कार्ययोजना तैयार की है। विकास को नई ऊंचाइयां देने के लिए परियोजनाओं के क्रियान्वयन की टाइमलाइन तय करते हुए कार्य किए जाएंगे। सरकार परफॉमेंस आधारित कार्यों पर फोकस करेगी।