Bhuvneshwar Kumar की टी20 विश्व कप से पहले टीम इंडिया में वापसी

भारतीय तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार के नाम अब संयुक्त रूप से पावरप्ले में सर्वाधिक 33 विकेट लेने का रिकॉर्ड है .

Bhuvneshwar Kumar returns to Team India before T20 World Cup
Bhuvneshwar Kumar returns to Team India before T20 World Cup
इस खबर को शेयर करें

भारत और दक्षिण अफ्रीका टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज अब आखिरी मैच तक पहुंच गई है, पिछले दो मैचों में भारत की बैक-टू-बैक जीत के बाद किसी को अब तक सीरीज के सकारात्मक पहलुओं को देखना है, खास तौर पर कोच राहुल द्रविड़ नई गेंद से भारत के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज विकल्प के रूप में भुवनेश्वर कुमार (Bhuvneshwar Kumar) की वापसी से काफी खुश होंगे.

ये मध्यम-तेज गेंदबाज निश्चित रूप से इस तरह से धमाके के साथ वापस आ गया है जिसका उसके सबसे उत्साही प्रशंसक ने भी अनुमान नहीं लगाया होगा. उनकी वापसी से जसप्रीत बुमराह और मोहम्मद शमी के पुराने गार्ड और आवेश खान जैसे नए नामों वाला भारतीय अटैक अब और भी सकारात्मक लग रहा है.

भुवनेश्वर काफी समय से अपने फॉर्म में नहीं थे, और पिछला साल वो था जब हर किसी ने उनकी फॉर्म या फिटनेस पर सवाल उठाना शुरू कर दिया था. 2020 और 2021 में दोनो आईपीएल भूलने योग्य थे और दक्षिण अफ्रीका में उनकी आउटिंग भी बेहतर नहीं थी.

उनके फॉर्म में गिरावट काफी स्पष्ट थी जब सनराइजर्स हैदराबाद ने उन्हें लगभग आधी कीमत पर टीम में वापस लिया, ये उसके उस समय के फॉर्म पर स्पष्ट टिप्पणी थी. उसे वापस खरीदने में फ्रैंचाइज़ी की बुद्धिमत्ता के बारे में सवाल इतने अधिक थे, जब छह टीमों ने उसके लिए बोली लगाने की भी जहमत भी नहीं उठाई.

लेकिन यहीं से चीजें बदल गईं. आईपीएल 2022 में उस वापसी की संभावना थी जो वो ढूंढ रहे थे, जिसके बाद भुवनेश्वर कुमार एक बार फिर प्रमुख गेंदबाजों में से एक थे.

दक्षिण अफ्रीका पूरे समय उसके खिलाफ रक्षात्मक रहा है, खासकर जब से वो शीर्ष पर घातक रहा है, छह विकेटों के साथ वो शुरुआती स्पेल खेलना मुमकिन नहीं था.

भुवी के नाम अब संयुक्त रूप से पावरप्ले में सर्वाधिक 33 विकेट लेने का रिकॉर्ड है और दक्षिण अफ्रीका सीरीज में अभी भी एक मैच बाकी है यानि कि वो उस रिकॉर्ड को तोड़ सकता है.

बुमराह और शमी की इंग्लैंड सीरीज के लिए वापसी की उम्मीद के साथ, भुवनेश्वर ने कम से कम सीमित ओवरों के फॉर्मेट में अपनी जगह को कोई नुकसान नहीं किया है. इसके अलावा, वो अब ICC T20 विश्व कप के लिए भी एक निश्चित विकल्प है, और ये वास्तव में स्वागत योग्य समाचार है, क्योंकि हर पक्ष को उस अनुभव की आवश्यकता होगी जो उस स्तर पर अंतर पैदा करे.

उम्मीद है कि इस सब के बीच उनकी फिटनेस बरकरार रहेगी, हालांकि इस समय ये गेंदबाज निश्चित रूप से अच्छा दिख रहा है. उन्होंने इस बात पर ध्यान केंद्रित किया है कि उनकी ताकत क्या है और परिणाम फिर से दिखने लगे हैं. ये एक तेज गेंदबाज के लिए काफी प्रभावशाली वापसी है जब पूरी क्रिकेट बिरादरी नए, युवा और निश्चित रूप से तेज प्रतिभाओं के लिए मांग कर रही है.