मध्य प्रदेश: मां-बाप ने साढे 5 लाख में 15 दिन के मासूम को बेचा, पैसों से खरीदी बाइक-फ्रिज और टीवी

मध्य प्रदेश के इंदौर में एक नवजात बच्चे को बेचने का मामला सामने आया है. मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. नवजात को साढ़े पांच लाख रुपये में देवास के एक दंपत्ति को बेचा गया था. सबको कमीशन मिलने के बाद बच्चे के माता पिता को आधे पैसे मिले थे.

इस खबर को शेयर करें

इंदौर. मध्य प्रदेश के इंदौर में एक नवजात बच्चे को बेचने का मामला सामने आया है. मामले का खुलासा करते हुए पुलिस ने 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. नवजात को साढ़े पांच लाख रुपये में देवास के एक दंपत्ति को बेचा गया था. सबको कमीशन मिलने के बाद बच्चे के माता पिता को आधे पैसे मिले थे. बच्चे को बेचने वाले मां बाप ने पैसों से मोटर साइकिल और घरेलू सामान खरीद लिया था. दरअसल 15 दिन के बच्चे के खरीद फरोख्त का मामला हीरा नगर थाना क्षेत्र की है जहां एक दंपति ने जन्म लेने से पहले ही अपने होने वाले बच्चे का सौदा कर दिया था. दोनों ने दलाल लोगों की मदद से बच्चा साढ़े पांच लाख रुपये में बेचना तय किया था. लोगों में कमीशन बंटा और पति-पत्नी को लगभग आधे रुपये मिले. बच्चा 15 दिन का होने पर तय सौदे के अनुसार बच्चा देवास के दंपति को दिया गया, जिसकी जानकारी पुलिस को मिली.

इलाके में ही रहने वाले अंतर सिंह और शायरा बी दोनों साथ रहते हैं. महिला गर्भवती थी तब अक्सर दोनों के बीच विवाद होता था. अंतर सिंह अक्सर आरोप लगाता था कि महिला के गर्भ में पल रहा बेटा उसका नहीं है. विवाद जब ज्यादा बढ़ा तो दोनों ने गर्भपात कराने का विचार किया,ले किन दोनों गर्भपात नहीं करवा सके. इस बीच दोनों ने बच्चे को न पालने का विचार किया और बच्चे को बेचने की योजना बना ली.

पुलिस ने 6 आरोपियों को किया गिरफ्तार
जब दंपति ने बच्चे को बेचने की योजना बनाई तो कुछ ऐसे लोगों से संपर्क किया जो बच्चे को बेचने में मददगार हो सकते थे. इस बीच देवास के एक दंपति से बच्चे का सौदा तय हुआ. देवास के रहने वाले दंपति ने पांच लाख में बच्चे को खरीद लिया. बच्चे के जन्म के 15 दिन बाद खरीददार बच्चे को ले गए, पुलिस को इस बीच बच्चे के खरीद फरोख्त के बारे में जानकारी मिली और पुलिस ने छानबीन शुरू कर दी. पड़ताल के दौरान पुलिस ने देवास के दंपति को गिरफ्तार कर लिया. साथ ही दलालों को भी हिरासत में ले लिया. पुलिस ने अब तक 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया है.

देवास के रहने वाले दंपति के यहां जुड़वां बच्चे थे, लेकिन उनका निधन हो गया था. उसके बाद से ही वह बच्चों की तलाश कर रहे थे. शायरा के सम्पर्क में रहे दलालों ने देवास के दंपति से बच्चों का सौदा कर लिया. दलालों ने अपना कमीशन भी इसमें रख लिया.आरोपियों ने कमीशन में मिले पैसों से घरेलू सामान खरीद लिया. साथ ही बच्चे को जन्म देने वाली मां ने भी गाड़ी और अन्य सामान खरीद लिया. पुलिस ने गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.