मुजफ्फरनगर पुलिस ने किया बडा खुलासाः 44640 नशे की गोलियां, 8276 कैप्सूल, 316 इंजेक्शन बरामद

जनपद में नशीली दवाईयों की तस्करी का बड़ा खेल पकड़ा गया है। पुलिस टीम ने एक मेडिकल स्टोर पर बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित नशीली दवाईयों और इंजेक्शन को बरामद किया।

Muzaffarnagar Police made a big disclosure: 44640 intoxicating pills, 8276 capsules, 316 injections recovered
Muzaffarnagar Police made a big disclosure: 44640 intoxicating pills, 8276 capsules, 316 injections recovered
इस खबर को शेयर करें

मुजफ्फरनगर। जनपद में नशीली दवाईयों की तस्करी का बड़ा खेल पकड़ा गया है। पुलिस टीम ने एक मेडिकल स्टोर पर बड़ी मात्रा में प्रतिबंधित नशीली दवाईयों और इंजेक्शन को बरामद किया। इन दवाईयों की तस्करी में तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। इनके कब्जे से पुलिस ने करीब 3 लाख रुपये कीमत की नशीली प्रतिबंधित दवाईयों का जखीरा पकड़ा है। इनमें नशीली गोलियों के साथ ही प्रतिबंधित कैप्सूल और इंजेक्शन शामिल हैं। इसके साथ ही आरोपियों से एक मोटरसाइकिल भी बरामद की गयी है। ये लोग बाहर से यह प्रतिबंधित दवाईयां मंगाकर अपने मेडिकल स्टोर और मेडिकल एजेंसी से बिना बिल के ही सप्लाई करते थे।

रिजर्व पुलिस लाइन के सभाकक्ष में आज आयोजित प्रेस वार्ता के दौरान एसपी देहात अतुल श्रीवास्तव ने जनपद में चलाये जा रहे नशीली दवाईयों की खरीद फरोख्त करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया है। उन्होंने बताया कि अवैध मादक तस्करों की गिरफ्तारी के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विनीत जायसवाल के निर्देशन में चलाये जा रहे अभियान के अर्न्तगत पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। उन्होंने बताया कि प्रभारी निरीक्षण सुदेश कुमार थाना फुगाना के नेतृत्व में गत रात्रि को थाना फुगाना पुलिस द्वारा 03 नशीला पदार्थ तस्कर अभियुक्तों को फौजी मेडिकल स्टोर ग्राम खरड़ के पास से गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि इन गिरफ्तार अभियुक्तों के कब्जे में लगभग 03 लाख रुपये कीमत की 44840 नशीली गोलिया 8276 कैप्सूल व 316 इंजेक्शन व 01 मोटरसाइकिल बरामद किये गये हैं।

एसपी देहात अतुल श्रीवास्तव ने बतया कि पुलिस द्वारा की गयी पूछताछ में गिरफ्तार अभियुक्तों द्वारा में बताया गया कि पकड़ा गया नशील दवा तस्कर मोहन जनपद के बाहर से अवैध मादक पदार्थ मंगवाकर आसपास बिक्री करता था तथा अभियुक्त उवैश व अर्पित मलिक अपने अपने मेडिकल स्टोर पर बिना बिल व चिकित्सक के पर्चे के ही अधिक दामों में इन प्रतिबंधित दवाईयों और इंजेक्शन को बेच कर अवैध लाभ अर्जित करते थे। स्थानीय पुलिस द्वारा गिरफ्तार अभियुक्तों के अपराधिक इतिहास की जानकारी की जा रही है। उन्होंने बताया कि दवाईयों की तस्करी में पुलिस द्वारा गिरफ्तार किये गये अभियुक्तों में उवैश पुत्र अन्सार निवासी ग्राम पिठलोकर थाना सरधना जनपद मेरठ हाल निवासी भारत मैडिकल एजेन्सी निकट तहसील कस्बा व थाना बुढाना जनपद मुजफ्फरनगर के साथ ही मोहन पुत्र कुंवरसेन निवासी गली नम्बर-7 रामनीला टीला थाना कोतवाली नगर जनपद मुजफ्फरनगर तथा अर्पित मलिक पुत्र स्व. विजेन्द्र सिंह निवासी ग्राम खरड थाना फुगाना मुजफ्फरनगर शामिल हैं।

इनमें अर्पित मलिक और उवैश अपने मेडिकल स्टोर चला रहे हैं। अर्पित मलिक के मेडिकल स्टोर से ये प्रतिबंधित दवाईयां बरामद हुई हैं। उन्होंने बताया कि इनमें अलग अलग कंपनियों की एलप्राजोलेम टेबलेट्स, प्रोक्सीवेल स्पास कैपसूल के साथ ही नोवाटेरमिन और पेंजिन इंजेक्शन बरामद किये गये हैं। यह प्रतिबंधित दवाईयों की श्रेणी में आती हैं और बिना किसी अनुमन्य चिकित्सक के इनकी बिक्री नहीं की जा सकती है। इसके साथ ही ऽ 01 स्पलैण्डर मोटरसाइकिल नम्बर यूपी 12 बीएल 6326 बरामद की गयी है। उन्होंने बताया कि इन तीन नशे के सौदागरों को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में प्रभारी निरीक्षक फुगाना सुदेश कुमार, उप निरीक्षक जितेन्द्र सिंह, उप निरीक्षक विजेन्द्र सिंह, हैड कांस्टेबल ज्ञानवीर सिंह, कांस्टेबल लोकेन्द्र, ललित भाटी, मोहन सिंह थाना फुगाना शामिल रहे। प्रेस वार्ता में सीओ फुगाना शरद चंद शर्मा और एसएचओ फुगाना दिनेश कुमार भी मौजूद रहे।