दीदी के देवर से मिलने आई थी लड़की, दूसरी बार डबल झटके ने पहुंचाया अस्‍पताल

दिल्‍ली में रहकर पढ़ाई करने वाली एक लड़की अपने प्रेमी से‍ मिलने के लिए बिहार पहुंच गई। प्रेमी से मुलाकात के लिए लड़की ने बकायदा पुलिस का सहारा लिया। थाने जाकर बात की, पुलिस को अपने साथ चलने के लिए तैयार किया

The girl had come to meet Didi's brother-in-law, for the second time double shock took her to the hospital
The girl had come to meet Didi's brother-in-law, for the second time double shock took her to the hospital
इस खबर को शेयर करें

दारौंदा (सिवान): दिल्‍ली में रहकर पढ़ाई करने वाली एक लड़की अपने प्रेमी से‍ मिलने के लिए बिहार पहुंच गई। प्रेमी से मुलाकात के लिए लड़की ने बकायदा पुलिस का सहारा लिया। थाने जाकर बात की, पुलिस को अपने साथ चलने के लिए तैयार किया। इसके बाद सिवान जिले के दारौंदा थाना की पुलिस को लेकर अपने प्रेमी के घर पहुंची। यहां लड़की को छोड़कर पुलिस लौट गई। लेकिन, पुलिस के लौटते ही मामला बिगड़ गया। इस लड़की का अपनी दीदी के देवर के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा है।

मामला बिगड़ने के बाद पुल‍िस फिर प्रेमी के घर पहुंची और घायल लड़की को वहां से लेकर अस्‍पताल गई। अस्‍पताल में उसका इलाज कराने के बाद पुलिस वाले उसे घर छोड़ने जा रहे थे, लेकिन इस बीच ऐसा हादसा हुआ क‍ि लड़की के साथ ही तीन पुलिस वाले भी फिर से अस्‍पताल पहुंच गए।

बताया जाता है कि मूल तौर पर सिवान जिले के जीरादेई थाना क्षेत्र के एक गांव की किशोरी प्रेमी के घर जाने के लिए दारौंदा थाना पहुंची। वह दिल्‍ली में रहकर पढ़ाई करती है। उसने कहा कि जब तक पुलिस मुझे मेरे प्रेमी के घर नहीं पहुंचाएगी, मैं थाने में ही बैठी रहूंगी। पुलिस किशोरी को लेकर उसके प्रेमी के घर पहुंची। वहां से पुलिस के लौटने के बाद स्वजनों ने उसकी पिटाई कर दी। इसके बाद पुलिस उसे इलाज के लिए दारौंदा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाई तथा वहां इलाज कराने के बाद उसे एक महिला पुलिस तथा चौकीदार सुदर्शन मांझी के साथ आटो में बैठा कर उसके घर के लिए रवाना किया।

इस दौरान मछौती गांव के समीप शनिवार की रात आटो पलट गया। इससे आटो में सवार सभी लोग घायल हो गए। तीनों घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया, जहां से चिकित्सक द्वारा प्राथमिक उपचार के बाद तीनों को सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया। घायलों में जीरोदई के ठेपहा निवासी चौकीदार सुदर्शन मांझी समेत तीन लोग शामिल हैं।

इस संबंध में थानाध्यक्ष कैप्टन शहनवाज ने बताया कि घटना की जांच की जा रही है। इसको लेकर महिला थाना में मामला भी दर्ज है। बताया जाता है कि युवती दिल्ली में रहकर पढ़ाई करती है ओर उसका तीन वर्षों से उसकी बहन के देवर के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा है। पहले सबकुछ ठीक था। करीब एक साल से प्रेमी के स्वजन शादी से इन्कार करने लगे हैं। इससे नाराज होकर किशोरी रविवार की देर शाम प्रेमी के घर पहुंची थी।