बिहार के बांका में रातों – रात गायब हो गई दो किलोमीटर सड़क, पढ़िए अजीब मामला

बिहार के बांका में रातों - रात गायब हो गई दो किलोमीटर सड़क, पढ़िए अजीब मामलाबिहार के बांका जिले में रातों-रात सड़क चोरी का मामला सामने आया है। करीब 2 किमी लंबी सड़क खेत में तब्दील कर दी गई । शाम तक जिस सड़क से लोग गुजरते थे। लेकिन अगली सुबह नींद खुलते ही सड़क गायब मिली।

Two kilometers of road disappeared overnight in Bihar's Banka, read strange case
Two kilometers of road disappeared overnight in Bihar's Banka, read strange case
इस खबर को शेयर करें

बांका: बिहार के बांका जिले में रातों-रात सड़क चोरी का मामला सामने आया है। करीब 2 किमी लंबी सड़क खेत में तब्दील कर दी गई । शाम तक जिस सड़क से लोग गुजरते थे। लेकिन अगली सुबह नींद खुलते ही सड़क गायब मिली। जिसके चलते इस सड़क से गुजरने वाले लोग रास्ता ही भटक गए। हैरान कर देने वाला ये मामला रजौन प्रखंड के खरौनी गांव का है। 2 गांवों को जोड़ने वाली सड़क की जुताई दबंगों कर दी और उसमें गेहूं की बुवाई कर दी। खरौनी गांव के लोगों ने ही सड़क पर कब्जा कर लिया। जिससे लोगों की परेशानी बढ़ गई है। लोगों को पगडंडी के सहारे संभल कर आने-जाने को मजबूर हैं। रातों-रात चोरी हुई सड़क की घटना से गांव में हड़ंकप मच गया।

सड़क पर कर दी गेहूं की बुवाई
इस मामले में खादमपुर गांव के लोगों ने अंचलाधिकारी को आवेदन दिया है। लोगों ने कहा कि खरौनी गांव से खादमपुर गांव को जाने वाली मुख्य सड़क पर गेहूं की बुवाई की गई है। इस रोड का इस्तेमाल वे लोग आने जाने के लिए सालों से करते आ रहे हैं। अचानक इस बार खैरानी गांव के लोगों ने रोड को ट्रैक्टर से जोत दिया और उस पर गेहूं की बुवाई कर दी है। खादमपुर गांव के लोगों ने जब इसका विरोध किया तो वे लोग मारपीट पर उतारू हो गए। दबंग लोग लाठी-डंडे से खदेड़ देते हैं।

रातों-रात गायब हुई सड़क
वहीं इस मामले पर अंचलाधिकारी मोहम्मद मोइनुद्दीन ने बताया कि रोड पर अतिक्रमण का मामला मेरे संज्ञान में है। कर्मचारी को भेजकर मामले की जांच कराई जाएगी। अगर मामला सही पाया गया तो तुरंत अतिक्रमण हटाया जाएगा। साथ ही अतिक्रमणकारियों पर कार्रवाई भी की जाएगी। सिर्फ एक रात में गायब हुई सड़क की इस घटना से ग्रामीण काफी परेशान है। टापू की तरह अपने गांव तक ही रहने को मजबूर हो गए हैं ऐसी स्थिति में लोगों का जीवन यापन ठप हो गया है। ऐसे में देखना होगा कि सड़क को खेत में तब्दील करने वालों के खिलाफ प्रशासन कितना सख्त एक्शन लेता है।