राजू श्रीवास्‍तव की मौत कैसे हुई, सब ठीक हो रहा था फिर अचानक क्‍या हो गया?

राजू श्रीवास्‍तव का निधन हो गया है। इस खबर ने सबको चौंका दिया है, क्‍योंकि 42 दिन में एम्‍स अस्‍पताल में भर्ती कॉमेडियन की तबीयत में सुधार की बात कही जा रही थी। जानिए उनकी मौत कैसे हुई,

How did Raju Srivastava die, everything was going well then what happened all of a sudden?
How did Raju Srivastava die, everything was going well then what happened all of a sudden?
इस खबर को शेयर करें

दुनिया को अपनी कॉमेडी से गुदगुदाने वाले राजू श्रीवास्तव अब हमारे बीच नहीं रहे। दिल्‍ली के एम्‍स में 42 दिन तक जिंदगी की जंग लड़ने के बाद बुधवार 21 सितंबर की सुबह 10 बजकर 20 मिनट पर 58 साल की उम्र में उनका निधन हो गया। राजू श्रीवास्तव को 10 अगस्त को कार्डियक अरेस्ट के बाद से एम्स में भर्ती किया गया था। वह तभी से कोमा में थे और आईसीयू में वेंटिलेटर पर थे। हालांकि, बीच में कई बार उनके शरीर में हरकत जरूर हुई, लेकिन वह होश में नहीं आ सके। राजू श्रीवास्तव के निधन की खबर से इंडस्ट्री से लेकर उनके फैन्स तक के बीच गम का माहौल है। राजू श्रीवास्तव की फैमिली में इस वक्त मातम पसर गया है। हर दिन, हर पल, हर कोई यही उम्‍मीद लगाए बैठा था कि राजू श्रीवास्‍तव एक दिन आंखें खोलेंगे, होश में आएंगे और गजोधर बनकर फिर से सबको हंसाएंगे। लेकिन ऐसा हो न सका। डॉक्टरों ने बुधवार को आख‍िरकार फैमिली को यह कहते हुए जवाब दे दिया उनका ब्रेन तक ऑक्‍सीजन नहीं पहुंच रहा है।

Raju Srivastav का निधन की खबर ने सबको चौंका दिया है, क्‍योंकि बीच में परिवारवालों की तरफ से यही कहा जा रहा था कि उनकी तबीयत में सुधार हो रहा है। राजू के भतीजे कुशल श्रीवास्‍तव ने हमारे सहयोगी ‘ईटाइम्‍स’ को बताया कि मंगलवार तक उनकी स्‍थ‍िति पहले जैसी ही थी। वह कहते हैं, ‘हम सभी को कल तक यही लग रहा था कि वह ठीक हो जाएंगे। लेकिन बुधवार सुबह उनका दूसरी बार कार्ड‍ियक अरेस्‍ट हुआ और इस बार वह उससे लड़ नहीं पाए।’

हार्ट के एक हिस्‍से में मिला था 100% ब्‍लॉकेज
डॉक्‍टरों ने उन्‍हें ब्रेन डेड घोष‍ित भी कर दिया था। बीच में उन्‍हें तेज बुखार भी आया था, शरीर में इंफेक्‍शन होने की बात भी सामने आई थी। डॉक्टरों ने उनके सिर का सीटी स्कैन कराया तो दिमाग के एक हिस्से में सूजन मिली थी। 15 दिन बाद जानकारी मिली कि उन्होंने अपना एक पैर मोड़ा था, लेकिन उन्हें होश नहीं आया और उनका ब्रेन भी रिस्पॉन्स नहीं कर रहा था। AIIMS में राजू की एंजियोप्लास्टी की गई थी, जिसमें हार्ट के एक बड़े हिस्से में 100% ब्लॉकेज मिला। राजू अपने पीछे परिवार में पत्नी शिखा, बेटी अंतरा, बेटा आयुष्मान, बडे़ भाई सीपी श्रीवास्तव, छोटे भाई दीपू श्रीवास्तव, भतीजे मयंक और मृदुल को बिलखता छोड़ गए हैं। उनका पूरा परिवार दिल्‍ली में ही है।

ब्रेन तक ऑक्‍सीजन सप्‍लाई की समस्‍या
राजू श्रीवास्‍तव एम्‍स में सबसे दिग्‍गज डॉक्‍टरों की टीम की निगरानी में थे। उनके मौत के कारण की सबसे बड़ी वजह यही बनी है कि उनके ब्रेन तक ऑक्‍सीजन सप्‍लाई से ही जा रही थी। डॉक्‍टरों को उम्‍मीद थी कि लगातार मैनुअल ऑक्‍सीजन सप्‍लाई से एक समय ब्रेन के सेल्‍स खुद काम करना शुरू कर देंगे लेकिन ऐसा नहीं पाया।

राजू श्रीवास्‍तव के हार्ट में भी थी दिक्‍कत
राजू श्रीवास्तव की Health को लेकर लगातार अपडेट भी आ रहे थे और कहा जा रहा था कि उनके शरीर के कुछ हिस्सों में हलचल है। पिछले दिनों उनके मैनेजर की तरफ से यह भी कहा जा रहा था कि डॉक्टरों ने बताया है कि एक वीक के भीतर वह होश में आ सकते हैं, लेकिन दुर्भाग्य से यह सच साबित हो नहीं हो पाया। इस दौरान रोज उन्हें चाहने वाले ये दुआएं कर रहे थे। मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि डॉक्टरों ने ब्रेन डेड होने के साथ-साथ यह भी कह दिया था कि उनका हार्ट भी काम नहीं कर रहा। डॉक्टरों ने बुधवार को उनकी फैमिली को जवाब दे दिया।

राजू श्रीवास्‍तव के सिर की एक नस दबी हुई थी
राजू श्रीवास्तव 10 अगस्त को दिल्‍ली में काम के सिलसिले में थे। वह हर दिन की तरह होटल में ट्रेडमिल पर वर्कआउट कर रहे थे और इसी दौरान उन्हें अटैक आया और वह बेहोश हो गए। उन्हें फौरन दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया गया। हॉस्पिटलाइजेशन के बाद से ही वह वेंटिलेटर पर थे और बताया जा रहा था कि उनके ब्रेन ने काम करना बंद कर दिया है। इलाज के दौरान डॉक्टरों ने दो स्टेंट लगाए थे। इसके बाद 13 अगस्त एमआरआई में राजू श्रीवास्तव के सिर की एक नस दबी होने की बात भी बताई गई।

मल्‍टीपल ऑर्गन फेल्‍योर
डॉक्टरों की तरफ से राजू श्रीवास्तव के निधन की वजह ब्रेन में ऑक्‍सीजन नहीं पहुंचना, मल्टीपल ऑर्गन फेल्योर बताई जा रही है। मल्टीपल ऑर्गन फेल्योर यानी जब शरीर के दो से ज्यादा अंग काम करना बंद करते हैं। इसे मल्टीपल ऑर्गन डिसफंक्शन सिंड्रोम भी कहते हैं जो अधिकतर मामलों में जानलेवा साबित होता है और राजू श्रीवास्तव केस में भी यही हुआ है।

राजू श्रीवास्‍तव को पहले से थी हार्ट संबंधी समस्‍या
रिपोर्ट्स के मुताबिक राजू श्रीवास्तव को हार्ट से जुड़ी समस्या पहले भी हो चुकी थी। खबर है कि हार्ट की प्रॉब्लम को लेकर पहली बार उन्हें 10 साल पहले मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में भर्ती कराया गया था और दूसरी बार 7 साल पहले हार्ट की वजह से ही मुंबई के लीलावती अस्पताल में भर्ती हुए थे। बताया जाता है कि डॉक्टरों की तरफ से राजू को कोई ऐसी सलाह भी नहीं थी कि उन्हें हेवी वर्कआउट से बचना चाहिए। जिस दिन वह वर्कआउट के दौरान बेहोश हुए थे, वह उतने ही नॉर्मल थे जितना कि एक आम इंसान।

बेटी अंतरा ने आख‍िरी बार कही थी ये बात
राजू श्रीवास्‍तव जब हॉस्पिटलाइज थे तो उनकी बेटी अंतरा श्रीवास्तव ने कहा था, ‘मेरे पापा काम के लिए सिलसिले में अक्‍सर दिल्ली और देशभर के अन्य शहरों में जाते रहते हैं। वह हर दिन जिम में वर्कआउट करते हैं। यह उनका डेली रूटीन है। वह पूरी तरह से ठीक थे। हम सब शॉक्‍ड हैं कि ऐसा कैसे हो गया। उनकी तबीयत में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। हम उम्‍मीद करते