पुलवामा का मास्‍टरमाइंड आस‍िम मुनीर बना पाकिस्तान का नया आर्मी चीफ, डोभाल ने…

पाकिस्‍तान (Pakistan) के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ (Shehbaz Sharif) ने लेफ्टिनेंट जनरल असीम मुनीर (Lt. Gen Asim Munir) को देश का अगला सेना प्रमुख नियुक्‍त कर दिया है। जनरल मुनीर 29 नवंबर को रिटायर हो रहे जनरल कमर जावेद बाजवा की जगह लेंगे। फरवरी 2019 में जब भारत में पुलवामा आतंकी हमला (Pulwama Terror Attack) हुआ था तो उस समय वही आईएसआई चीफ थे।

Pulwama mastermind Asim Munir became Pakistan's new army chief, Doval...
Pulwama mastermind Asim Munir became Pakistan's new army chief, Doval...
इस खबर को शेयर करें

इस्‍लामाबाद: पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने ले. जनरल असीम मुनीर को देश का अगला सेना प्रमुख चुनकर हर तरह की अफवाह और आशंका को विराम दे दिया है। शहबाज सरकार में सूचना मंत्री मरियम औरंगजेब की तरफ से गुरुवार को बताया गया कि पीएम ने अपने पास मौजूद शक्तियों का प्रयोग करते हुए यह फैसला लिया है। ले. जनरल मुनीर अब 29 नवंबर को रिटायर हो रहे सेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा का स्‍थान लेंगे। जनरल बाजवा के फेवरिट जनरल मुनीर जब अक्‍टूबर 2018 में इंटेलीजेंस एजेंसी आईएसआई के मुखिया बने तो पहली बार खबरों में आए। भारत, पड़ोस में हो रहे इस घटनाक्रम पर करीब से नजर रखे हुए है। ले. जनरल मुनीर वही शख्‍स हैं जिनके आईएसआई चीफ रहते भारत ने फरवरी 2019 को पुलवामा आतंकी हमला झेला था। यहां तक कि एक बार भारत के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजित डोवाल ने भी मुनीर को खूब खरी-खोटी सुनाई थी।

पुलावामा की साजिश!
फरवरी 2019 में पुलवामा आतंकी हमले के बाद जब भारत और पाकिस्‍तान के बीच तनाव चरम पर था तो सारे फैसले पर्दे के पीछे से ले. जनरल मुनीर ही ले रहे थे। ले. जनरल मुनीर उस समय वह आईएसआई के मुखिया थे। इसके अलावा मुनीर हमले के दौरान मिलिट्री के उस पैनल में सबसे अहम शख्‍स थे जो सुरक्षा नीतियों और पाकिस्‍तान की प्रतिक्रिया पर बड़े फैसले ले रहा था। कहा तो यहां तक गया था कि पुलवामा आतंकी हमला नए आईएसआई चीफ ले. जनरल मुनीर के उकसावे पर ही अंजाम दिया गया था। हमला आईएसआई की उसी मॉडेस ऑपरेंडी के तहत हुआ था जो हमेशा से भारत के खिलाफ आतंकियों को तैयार करने में प्रयोग होती आई है।

कश्‍मीर के चप्‍पे-चप्‍पे से वाकिफ
ले. जनरल मुनीर आईएसआई चीफ बनने से पहले नॉर्दन एरिया के कमांडर और मिलिट्री इंटेलीजेंस के डायरेक्‍टर जनरल भी रहे हैं। वह जम्‍मू कश्‍मीर के चप्‍पे-चप्‍पे से वाकिफ हैं। जब जनरल बाजवा के कहने पर उन्‍हें आईएसआई चीफ बनाया गया तो सैन्‍य विशेषज्ञों ने इसे भारत के खिलाफ बड़ी साजिश का हिस्‍सा करार दिया। मुनीर को कश्‍मीर का एक्‍सपर्ट तक कहा जाता है। मुनीर, बाजवा और देश की सरकार के सामने खुद को आईएसआई का बेस्‍ट बॉस साबित करना चाहते थे। कश्‍मीर के हर हिस्‍से से वाकिफ मुनीर ने अपने अनुभव की मदद ली और पुलवामा आतंकी हमले को अंजाम देने में जैश-ए-मोहम्‍मद की मदद की।

फ्रंटियर फोर्स रेजीमेंट के जनरल मुनीर सबसे सीनियर थ्री स्‍टार जनरल और जनरल बाजवा के फेवरिट हैं। जिस समय जनरल बाजवा X कोर के कमांडर थे तो ले. जनरल मुनीर वहां ब्रिगेडियर के तौर पर तैनात थे। साल 2017 में जनरल बाजवा ने उन्‍हें मिलिट्री इटेंलीजेंस का डायरेक्‍टर जनरल यानी मुखिया बना और एक साल के अंदर वह आईएसआईए के चीफ भी बन गए।

डोवाल की खरी-खरी
पुलवामा हमले के बाद जम्‍मू कश्‍मीर में डॉग फाइट के दौरान भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिंनदन वर्तमान ने पाकिस्‍तान के फाइटर जेट को ढेर किया था। इसके बाद विंग कमांडर अभिनंदन पीओके में जा गिरे थे और पाकिस्‍तान की सेना ने उन्‍हें बंदी बना लिया था। न्‍यूज एजेंसी रॉयटर्स ने उस समय सूत्रों के हवाले से बताया था कि घटना के बाद भारत के राष्‍ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) अजित डोवाल ने ले. जनरल मुनीर से फोन पर बात की थी। मुनीर को यह बता दिया गया था कि भारत अपने काउंटर-टेररिज्‍म अभियान से पीछे नहीं हटेगा। मुनीर ने उस समय धमकी दी थी कि अगर भारत ने एक मिसाइल दागी तो फिर पाकिस्‍तान तीन मिसाइलों से इसका जवाब देगा।